दरभंगा। सकरी-बिरौल रेलखंड पर विगत दस दिनों से रेल परिचालन ठप रहने को लेकर अब स्थानीय लोग रेल प्रशासन के विरुद्ध उग्र आंदोलन करने की बात कह रहे हैं। लोगों का कहना हैं कि बैगनी हाल्ट निर्माण संघर्ष समिति व जगदम्बा हाल्ट निर्माण संघर्ष समिति द्वारा नवादा व बैगिनी में ट्रेन रुकने की मांग को लेकर किए जा रहे आंदोलन के कारण समस्तीपुर रेलवे के डीआरएम ने पिछले15 अगस्त से ही इस रेलखंड पर ट्रेन का परिचालन रोककर दरभंगा के जिलाधिकारी से इस संबध में एक रिपोर्ट देने की बात कही थी। जिलाधिकारी के निर्देश पर विगत एक सप्ताह पहले एसडीओ ने दोनों संधर्ष समिति के सदस्यों की अनुमंडल कार्यालय में बैठक बुलाकर किसी एक जगह पर ट्रेन रुकने के लिये सहमति प्रदान करबाने का कोशिश किया था । ईस बैठक में जगदम्बा हाल्ट निर्माण संघर्ष समिति के सदस्यों ने मुखिया बमबम झा के नेतृत्व में भाग लिया लेकिन बैंगनी हाल्ट संघर्ष समिति के सदस्यों ने भाग नहीं लिया जिसके कारण दोनों संघर्ष समिति के सदस्यों के बीच आपसी सहमति नहीं बन सकी और फिर उसके बाद एसडीओ ने अपनी रिपोट जिलाधिकारी को भेज दी और फिर जिलाधिकारी ने उस रिपोर्ट को डीआर एम समस्तीपुर को भेज दिया। लेकिन रिपोट भेजे जाने के बाद भी डीआर एम द्वारा इस रेल खंड पर आज तक ट्रेन का परिचालन नहीं शुरू करवाया गया जिसको लेकर अब आमजनता रेल प्रशासन के विरुद्ध उग्र आंदोलन करेगी। वहीं अधिकांश लोगों का यह भी कहना है कि नवादा से बैंगगनी गांव की दूरी दो किलोमीटर है और फिर नवादा से बेनीपुर - बलहा हाल्ट की दूरी तीन किलोमीटर है। बलहा हाल्ट पर उदघाटन काल से ही ट्रेन रुकती रही है तो फिर बलहा हाल्ट से दो से तीन किलोमीटर पर दो जगहों पर और ट्रेन रुकने का सरकुलर रेलवे बिभाग के पास है। इस बात को भी रेलवे विभाग ़को सुपष्ट करके अविलंब इस रेलखंड पर ट्रेन का परिचालन शुरु करवाना चाहिये। दो गांवों के चलते बेनीपुर एंव विरौल अनुमंडल के सैकडों गांवों के यात्री रेल परिचालन बंद रहने से परेशान हैं और उग्र आंदोलन करने की बात कह रहे हैं। राजद नेता बैजू यादव, रजा अहमद खां, कांग्रेस नेता हैदर अली खां का कहना है इस रेल खंड पर 10 दिनों से रेल परिचालन ठप है और केन्द्र सरकार के रेल मंत्री कुंभकर्णी ¨नद्रा में सोए हुए हैं।

Posted By: Jagran