दरभंगा। नगर थाने क्षेत्र के खानकाह चौक व जेपी चौक पर आ‌र्म्स एक्ट मामले के आरोपित ने जेल से छूटने के बाद रंगदारी मामले को लेकर जमकर तोड़फोड़ की। हालांकि, घटना में कोई घायल नहीं हुआ। बताया जाता है कि मुफ्ती मोहल्ला निवासी व शातिर बदमाश रियाज वारसी हाल के दिनों में कई मामलों में जेल से निकला है। इन दिनों वह सीएम कॉलेज में आए दिन छात्रों से रंगदारी की मांग कर रहा था। जिसका छात्र संघ विरोध कर रहा था। छात्र नेता व जीपी चौक निवासी ऋषभ व खानकाह चौक निवासी व छात्र नेता मो. मोनू को विरोध करना महंगा पड़ गया। रियाज वारसी उर्फ रियाज अहमद आक्रोशित होकर सोमवार को देर शाम दोनों के घर पर हमला कर लूटपाट की। बताया जाता है कि रियाज अपने भाई नेयाज, महेश आदि को लेकर आठ-दस बाइक से पहले ऋषभ के घर पर हमला किया। घर बंद रहने के कारण उसके घर पर ईंट-पत्थर चलाने के बाद सभी बाइक सवार खानकाह चौक रवाना हो गया। वहां मो. मोनू के घर पर हमला कर दिया। घर के बाहर लगी बाइक को चूर-चूर कर दिया। घर पर ईंट-पत्थर जमकर चलाया। बगलस्थित मोनू की साइबर की दुकान का पर्दा फाड़ डाला। बताया जाता है कि हर बाइक पर दो से तीन आदमी सवार था। सभी के हाथ में लाठी, रॉड, हॉकी स्टीक आदि था। बदमाशों के तेवर को देख आसपास के लोग भी डर गए। कोई चाहकर भी बचाने की कोशिश नहीं की। मोनू ने बताया कि रियाज कॉलेज में छात्रों से रंगदारी की मांग आए दिन करता था। इसका जब विरोध किया तो वह उससे और ऋषभ से 50 हजार रुपये रंगदारी की मांग करने लगा। विरोध के कारण उन दोनों के घर पर हमला कर लूटपाट किया। इधर, थानाध्यक्ष सीताराम प्रसाद ने बताया कि रियाज हाल के दिनों में जेल से निकला है। इसके बाद से वह कॉलेज में छात्रों को तंग करने लगा। रंगदारी मामले को लेकर यह घटना हुई है। उसे और उसके शागिर्दों को गिरफ्तार करने के लिए लगातार छापेमारी की जा रही है।

Posted By: Jagran