दरभंगा । विभिन्न छात्र संगठनों ने मिलकर शुक्रवार को ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय में तालाबंदी कर दी। छात्र संगठन विवि की ओर से जारी छात्र संघ चुनाव कार्यक्रम से असंतुष्ट हैं और इसमें बदलाव की मांग कर रहे हैं। छात्र संगठनों का कहना है कि चुनाव कार्यक्रम काफी लंबा है और बीच में अवकाश के कारण कैंपस में छात्रों की मौजूदगी नहीं होगी। छात्र संगठनों की मांग है कि छात्र संघ चुनाव का कार्यक्रम छठ के बाद रखा जाए। इसी मांग को लेकर गुरुवार को छात्र संगठनों ने मिलकर विश्वविद्यालय में प्रदर्शन किया था, लेकिन वार्ता विफल होने पर शुक्रवार को सुबह विश्वविद्यालय खुलते ही तालाबंदी कर दी। बाद में करीब दो बजे कुलसचिव की ओर से वार्ता का आमंत्रण मिलने और बाहर से आए छात्रों की समस्याओं को देखते हुए परीक्षा विभाग को प्रदर्शनकारियों ने खोल दिया। कुलसचिव से वार्ता हुई, जिसमें छात्र संगठनों की मांग पर गंभीरता से विचार किया गया। तय हुआ कि शनिवार को चुनाव को लेकर गठित स्टेयरिग कमेटी की बैठक कर इस दिशा में आधिकारिक निर्णय लिए जाएंगे। कुलसचिव से आश्वासन मिलने के बाद छात्र संगठनों ने तालांबदी को तत्काल स्थगित कर दिया है। तालाबंदी में छात्र संगठन एआइएसएफ, आइसा, एआइडीएसओ, छात्र राजद, एमएसयू व एनएसयूआइ के कार्यकर्ता शामिल रहे।

--------------

कार्यालय खुलते ही कर दी तालाबंदी :

सुबह विवि मुख्यालय में कार्यालयों के खुलते ही प्रदर्शनकारियों ने तालाबंदी कर दी। प्रदर्शनकारी विवि प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते रहे। खराब मौसम के बादजूद प्रदर्शनकारी विवि मुख्यालय में डटे रहे। हालांकि, उनकी संख्या अधिक नहीं थी, लेकिन हौसले बुलंद थे। प्रदर्शनकारियों का कहना था कि विवि प्रशासन उनके आंदोलन को दबाने के लिए जितना प्रयास करेगा, आंदोलन उतना ही उग्र होता जाएगा। बंद का नेतृत्व आईसा के प्रदेश सह सचिव संदीप कुमार चौधरी, एआइएसएफ के जिला सचिव शरद कुमार सिंह, छात्र आरजेडी के प्रवीण कुमार यादव, एनएसयूआइ के प्रह्लाद कुमार, एमएसयू के अमन सक्सेना ने संयुक्त रूप से किया। बंद के दौरान विश्वविद्यालय मुख्यालय के मेन गेट पर एकत्रित होकर एआइडीएसओ के जिला सचिव ललित कुमार यादव की अध्यक्षता में सभा हुई।

-----------

चुनाव की अधिसूचना को बताया छात्र विरोधी :

सभा में वक्ताओं ने छात्र संघ चुनाव की अधिसूचना को छात्र विरोधी बताया। कहा कि इस कार्यक्रम से चुनाव होंगे तो उसमें आम छात्र-छात्राओं की सहभागिता कम होगी। इसको लेकर 20 सितंबर को ही कुलपति को ज्ञापन दिया गया था जिस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। वक्ताओं ने आरोप लगाया कि छुट्टियों के बीच छात्र संघ चुनाव कराकर विश्वविद्यालय प्रशासन खानापूर्ति में जुटा है। कहा कि समस्तीपुर जिले में लोकसभा उपचुनाव की अधिसूचना जारी हो गई है। पूरे जिला में धारा 144 लागू है। इस बीच छात्रसंघ चुनाव कैसे सफल होगा। 30 सितंबर तक पीजी में नामांकन होगा। 23 सितंबर तक स्नातक प्रथम खंड में नामांकन हुआ है। लॉ कॉलेज में भी नामांकन प्रक्रिया चल ही रही है। वोटर लिस्ट भी 25 तक जारी करना था। मगर 50 प्रतिशत कॉलेज ने भी वोटर लिस्ट जारी किया है। छात्र-छात्राएं जब कॉलेज कैंपस में कुछ दिन कक्षा नहीं करेंगे। तब तक वह कैसे चुनाव लड़ सकते हैं।

------------

आज होगी चुनाव के स्टेयरिग कमेटी की बैठक :

कुलसचिव कार्यालय में वार्ता के दौरान कुलसचिव के अलावा मुख्य चुनाव पदाधिकारी प्रो. चंद्रभानु प्रसाद सिंह, उप कुलानुशासक डॉ. एसपी सुमन, भूसंपदा पदाधिकारी डॉ. विजय कुमार यादव भी मौजूद थे। आंदोलनकारियों को पदाधिकारियों ने मौखिक अश्वासन दिया कि शनिवार को तीन बजे चुनाव संचालन कमेटी की बैठक कर सभी मांगों पर गंभीरता से विचार कर छात्रो के पक्ष में ही निर्णय लेंगें। मौके पर एआइएसएफ के जिलाध्यक्ष शशिरंजन, छात्र नेता अवनीश कुमार, मो. मोबीन, रोशन कुमार, रणवीर यादव, आईसा जिलाध्यक्ष प्रिस राज, जिला सचिव विशाल मांझी, छात्र नेता मयंक कुमार, अमोद कुमार, एमएसयू के मनोहर कुमार, छात्र राजद जिला उपाध्यक्ष मनीष सम्राट, रजनीश कुमार, राकेश कुमार राय, जिला महासचिव अनिल कुमार, रामेश्वर अमन, अभिरंजन कुमार, ललन कुमार, मोहित कुमार, मनंजय कुमार, सोनू कुमार, एआइडीएसओ के दयानंद यादव, हरेराम आदि मौजूद थे।

-----------------------------

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस