दरभंगा। लनामिविवि में डिग्री टू की परीक्षा परिणाम में गड़बड़ी की शिकायत को लेकर संयुक्त छात्र संगठनों ने मंगलवार को आक्रोशपूर्ण प्रदर्शन किया। प्रदर्शन का नेतृत्व एआइएसएफ के छात्र नेता राहुल राज, आइसा के मयंक कुमार, एनएसयूआइ के त्रिभुवन कुमार आदि कर रहे थे। विश्वविद्यालय खुलते ही आक्रोशित छात्र सभी कार्यालय में ताला मार कर कुलपति कार्यालय के समक्ष बैठ गए। छात्र-छात्राएं एक ही मांग पर अड़े हुए थे कि स्नातक द्वितीय खंड के सभी छात्र-छात्राओं की उत्तरपुस्तिका का पुन: मूल्यांकन हो और इस परीक्षा परिणाम को रद कर नए परीक्षा परिणाम घोषित किया जाए। इस दौरान आक्रोशित छात्रों ने अध्यक्ष छात्र कल्याण डॉ. भोला चौरसिया के ऊपर स्याही भी फेंकी। मौके पर एआइएसएफ के शरद कुमार ¨सह की अध्यक्षता में सभा हुई। प्रदेश उपाध्यक्ष आमीन हामजा ने कहा कि कुलपति जब से अपने कार्यकाल को संभाले हैं तब से सभी छोटे और बड़े परीक्षाओं में गड़बड़ी हो रही है। परीक्षा नियंत्रक भी काम सही से नहीं कर रहे हैं। सत्र को नियमित करने के नाम पर आनन-फानन में परीक्षा परिणाम घोषित करते हैं। इससे छात्र-छात्राओं को आर्थिक और मानसिक दोहन हो रहा है। विवि प्रशासन की मंशा ही मिथिला के छात्रों को बदनाम करने का है। वह लगातार परीक्षा परिणाम में धांधली कर यहां के छात्रों को मानसिक रूप से तंग करते हैं। जिस एजेंसी से सही से काम नहीं होता है उस एजेंसी को मार्क शीट और टीआर ¨प्रट का जिम्मा दे दिया जाता है। यह अपने आप में कुलपति की मंशा को दर्शाता है। पूर्व जिलाध्यक्ष डॉ. जमाल हसन ने कहा कि परीक्षा नियंत्रक को तुरंत कुलपति बर्खास्त एक अच्छे परीक्षा नियंत्रक की नियुक्ति करें जिससे छात्र-छात्राओं की भविष्य बर्बाद न हो। सचिव मृत्युंजय मृणाल ने कहा कि यह कुलपति की मंशा है कि आम छात्र और छात्राओं के विश्वास इस विश्वविद्यालय से खत्म कर इस विश्वविद्यालय को बंद कर दिया जाए। उन्होंने कहा कि लगातार छात्र परीक्षा देते हैं और उन्हें अपने मेहनत का फल लेने के लिए आंदोलन करने पर मजबूर होना पड़ता है। उन्होंने कहा कि अगर पुन: मूल्यांकन नहीं हुआ तो कल से अनशन और अनिश्चितकालीन तालाबंदी विश्वविद्यालय में करेंगे। छात्र जाप के विवि अध्यक्ष दीपक कुमार झा ने विवि प्रशासन को आगाह करते हुए कहा कि अगर हमारी मांग जल्द पूरा नहीं किया तो आंदोलन को उग्र करेंगे। छात्र नेता शंकर ¨सह ने कहा कि जो छात्र प्रथम खंड में फ‌र्स्ट डिविजन हैं उसको द्वितीय खंड में जीरो मार्किंग कर दिया है। आंदोलन के दौरान एआइएसएफ के बेगूसराय जिला अध्यक्ष संजग कुमार ¨सह, अवनीश कुमार, चुन्नू ठाकुर, राजेश राजा, जितेंद्र कुमार साहू, मो. मोबीन, रमेश कुमार, अमित कुमार झा, आइसा के सागर ¨सह, दीपक कुमार, एसएफआइ के अनिकेत कुमार द्विवेदी, नीरज कुमार, एनएसयूआइ के मो. साकिब, अनुराग ¨सह, गौतम, अंकित सिन्हा, आशीष झा, छात्र राजद के जिला अध्यक्ष प्रवीण कुमार प्रशांत, मुकेश कुमार यादव, जन अधिकार पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता सोनू तिवारी, साईं निरुपम सहित सैकड़ों छात्र मौजूद थे।

Posted By: Jagran