दरभंगा । जिला परिषद उपाध्यक्ष ललिता झा ने रेल प्रशासन को चेतावनी दी है कि वह बिरौल स्टेशन पर नागरिक सुविधा बहाल करें । सरकार बिरौल हरिनगर रेलखंड की उपेक्षा बंद करें । यदि इसमें सुधार नहीं हुआ तो जनहित में व्यापक जन आंदोलन छेड़ा जाएगा । शनिवार को दरभंगा जंक्शन पर आयोजित पंचायत प्रतिनिधियों की सभा में उन्होंने चेतावनी दी की उपेक्षा का दंश लोग अब सहने को तैयार नहीं हैं। जिला पार्षद राम कुमार झा ने जनप्रतिनिधियों के आंदोलन की सभा की अध्यक्षता करते हुए कहा कि 2008 में ही सकरी-बिरोल-हरनगर रेलखंड पर परिचालन आरंभ हुआ था। लेकिन अभी तक नागरिक सुविधा बहाल नहीं की गई है।रेल प्रशासन सदा आश्वासन देता है । लेकिन, कोई सुविधा अब तक नहीं दी गई है । इससे स्पष्ट होता है कि रेल प्रशासन इस इलाके की उपेक्षा करना चाहता है । हम लोगों ने आज धरना प्रदर्शन कर चेतावनी दी है । इस रेलखंड में नागरिक सुविधाएं बहाल नहीं की गई तो रेलवे का चक्का जाम कर देंगे । राष्ट्रीय जन स्वराज के नेता विद्यानंद चौधरी ने कहा कि दरभंगा के 70 प्रतिशत लोगों को यातायात की सुविधा इस रेलखंड से मिलती है । इसके बावजूद नागरिक सुविधाओं का नहीं उपलब्ध होना दर्शाता है कि प्रशासन को केवल अपने से मतलब है । नागरिकों की सुविधा से उसे कोई लेना देना नहीं है । छात्र नेता सागर नवदिया ने कहा कि ऐसा सत्याग्रह पूरे मिथिलांचल में होना चाहिए। सभा को आलोक झा, जिला पार्षद मीना कुमारी, माधव झा आजाद, आरके चंदन, राम बाबू झा तथा अन्य लोगों ने भी संबोधित किया । इस अवसर पर रेल प्रशासन को अपनी मांगों से संबंधित एक मांग पत्र भी सौंपा गया।

Posted By: Jagran