दरभंगा । कुशेश्वरस्थान में विभिन्न मांगों के समर्थन में सीपीएम के बैनर तले किसान सभा के कार्यकर्ताओं ने रविवार को प्रखंड के विभिन्न गांवों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला दहन किया। आंदोलनकारियों की मुख्य मांगों में तीनों कृषि कानून वापस लेने, यास चक्रवात से हुई फसल की क्षति का मुआवजा देने, डीजल-पेट्रोल, रसोई गैस व सरसों तेल की मूल्य वृद्धि को वापस लेने, महंगाई पर रोक लगाने सहित अन्य मुद्दे शामिल हैं। आंदोलनकारियों ने अपनी मांगों के समर्थन में नारे लगाए। भगतसिंह चौक झझरा में किसान सभा के जिला उपाध्यक्ष राम अनुज यादव के नेतृत्व में प्रधानमंत्री का पुतला दहन किया गया। इसी तरह बिषहरिया में राजेंद्र चौपाल व बैजनाथ मुखिया, नदियामी में सुशील कुमार सिंह, औराही में प्रमोद कुमार चौधरी, सुल्तानपुर में राम चंद्र राय, बड़गांव में झोटन शर्मा, सोहरबा में लक्ष्मी पोद्दार, बलहा में इंद्रकांत ठाकुर, हरिनगर में अशर्फी पासवान के नेतृत्व में आंदोलन किया गया। झझरा के कार्यक्रम में राम कुमार यादव, भदय साह, भूषण राम, विजयमल पासवान आदि उपस्थित थे। किसान काउंसिल की बैठक में लिए गए कई निर्णय

दरभंगा : लहेरियासराय स्थित कामरेड विजय कांत ठाकुर स्मृति भवन किसान भवन प्रांगण में नौ अगस्त को समाहरणालय पर प्रदर्शन की तैयारी के लिए गठित अभियान समिति की बैठक किसान काउंसिल के महेश दुबे व सीटू के वरिष्ठ नेता नरेंद्र मंडल की संयुक्त अध्यक्षता में हुई। बैठक में 19 जुलाई से आठ अगस्त तक जिलाव्यापी अभियान की समीक्षा के बाद नौ अगस्त को समाहरणालय पर प्रदर्शन की योजना बनाई गई। इससे पहले दो अगस्त को बहादुरपुर प्रखंड अंचल कार्यालय पर प्रदर्शन, तीन अगस्त सिंहवाड़ा अंचल में कन्वेंशन चार अगस्त को बहेड़ी में एवं पांच व छह अगस्त को दरभंगा शहर में व्यापक तौर पर अभियान चलाने का निर्णय लिया गया।

मौके पर बिहार राज्य किसान काउंसिल के राज्य अध्यक्ष ललन चौधरी, जिला किसान काउंसिल सचिव श्याम भारती, खेतिहर मजदूर यूनियन के जिला संयोजक दिलीप भगत ने कहा कि 9 अगस्त को किसान खेत मजदूर ट्रेड यूनियन संयुक्त रूप से इस सरकार की नीति के खिलाफ बड़ी संख्या में समाहरणालय पहुंचेंगे और संघर्ष को तेज करने का संकल्प लेंगे।

बैठक को किसान नेता रामधनी झा, सीटू नेता सत्य प्रकाश चौधरी, हर्ष नारायण झा, दिनेश झा, खेतिहर मजदूर नेता रमन जी पासवान ने भी संबोधित किया। मौके पर अखिल भारतीय किसान सभा के पूर्व अध्यक्ष हरकिशन सिंह सुरजीत एवं किसान मजदूरों के वरिष्ठ नेता शकील चाचा के निधन पर उन्हें श्रद्धांजलि दी गई।

Edited By: Jagran