दरभंगा। खुटवारा पंचायत के नवटोली वार्ड नंबर 1 में बुधवार को नदी किनारे बसे भूमिहीन पिछड़ी जाति के गरीबों को सदर सीओ द्वारा घर तोड़कर बेघर करने के खिलाफ भाकपा माले के कार्यकर्ताओं ने प्रतिवाद मार्च निकाला। मार्च छपकी पड़री से निकलकर आक्रोशपूर्ण प्रदर्शन करते हुए अंचल कार्यालय पहुंचा। मार्च के दौरान सभी कार्यकर्ताओं ने प्रशासन विरोधी नारे लगाते हुए पुलिस लाठीचार्ज में घायल बुजिया देवी, पलीन यादव सहित आधा दर्जन लोगों को मारपीट करने को लेकर दोषी पदाधिकारी एवं पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई की मांग की। सभा को संबोधित करते हुए सदर प्रखंड सचिव अशोक पासवान ने कहा कि सदर सीओ गरीब विरोधी हैं। बिना वैकल्पिक व्यवस्था किए ही भूमिहीन विधवा सावित्री देवी को विस्थापित कर सारा सामान सड़क पर फेंक दिया गया। वहीं, बदीया निवासी बुजिया देवी के घर को बिना सूचना दिए ही बुलडोजर से तोड़कर गिरा दिया गया। विरोध करने पर बर्बरतापूर्वक पिटाई की गई। महिला नेत्री एवं जिला सचिव शनिचरी देवी ने महिला पर लाठी चलाने वाले पुलिसकर्मी पर कार्रवाई को लेकर एसएसपी के सामने आंदोलन करने की बात कही। वहीं सीओ अरुण सक्सेना ने बताया कि उच्च न्यायालय के आदेश के आलोक में बुचिया देवी को नोटिस के माध्यम से कई बार सूचना दी गई थी। लेकिन बार-बार सूचना देने के उपरांत भी उसने अतिक्रमित जगह खाली नहीं की। न्यायालय के आदेशानुसार अतिक्रमित जगह को खाली करवाना था। वहां किसी पर कोई लाठीचार्ज नहीं हुआ। स्थानीय लोगों ने पुलिस एवं पदाधिकारी पर पथराव किया। उन सबके विरुद्ध प्राथमिकी दर्•ा की गई है। मौके पर सत्तनारायण यादव, मोहन यादव, सावित्री देवी, सूर्य नारायण शर्मा, राम नरेश यादव आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran