दरभंगा। शराब धंधेबाजों पर पुलिस की लगातार चोट मारने से हड़कंप मचा है। यही कारण है कि धंधेबाज अब नदी में शराब को छिपाकर रख रहे हैं। वरीय पुलिस अधीक्षक बाबू राम के निर्देश पर गुरुवार को सीआइएटी दस्ता ने गुप्त सूचना पर एपीएम थानाक्षेत्र के दीघरा नदी में छापेमारी की। जहां दो हजार अ‌र्द्धनिर्मित शराब को पुलिस ने विनष्ट कर दिया। हालांकि, धंधेबाज पुलिस को चकमा देकर फरार हो गए। सीआइएटी प्रभारी सुबोध ठाकुर ने मौके से दो उपकरण, चार तसल्ला सहित कई सामग्री बरामद कर स्थानीय पुलिस को आगे की कार्रवाई के लिए सौंप दिया। इध्र, कमतौल थाने की पुलिस ने कमतौल बाजार में छापेमारी कर धंधेबाज राजेश साह को गिरफ्तार कर लिया। वह 27 जून से पुलिस को चकमा देकर फरार चल रहा था। वहीं भालपट्टी पुलिस ने अहियापुर में छापेमारी कर मो. गुफरान और विकास पासवान को गिरफ्तार कर लिया। दोनों के पास से 375 एमएल की दो बोतलें शराब बरामद की गई है। बहेड़ा थाने की पुलिस ने कल्याणपुर गांव में छापेमारी की। लेकिन, पुलिस को सफलता नहीं मिल पाई। जबकि, बहेड़ी पुलिस ने बहेड़ी बाजार के रजवान मोहल्ला में छापेमारी कर देसी शराब के साथ स्थानीय निवासी धंधेबाज रामवृक्ष महतो को दबोच लिया। विशनपुर थाने की पुलिस ने डीलाही गांव में छापेमारी कर जितेंद्र पासवान को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने पांच नवंबर को उसके घर से भारी मात्रा में शराब बरामद की थी। जिसमें वह चकमा देकर फरार हो गया था। इधर, लहेरियासराय औ नगर थाने की पुलिस ने नशे की हालत में तीन लोगों को दबोचकर आगे की कार्रवाई में जुटी है।

--

Edited By: Jagran