दरभंगा। एससी एसटी एक्ट के विरुद्ध लागू किए जाने के विरोध में की गई बंदी के दौरान विशनपुर थाने क्षेत्र में हुई आपसी विवाद को शांति समिति की बैठक से समाप्त कर दिया गया। लहेरियासराय थाने में रविवार को सदर अंचल इंस्पेक्टर शिवमुनी प्रसाद की अध्यक्षता में दोनों पक्ष के लोगों की उपस्थिति में शांति समिति की बैठक की गई। इसमें हरिचंदा व शिवदासपुर में 6 सितंबर को बंदी दौरान बंद समर्थक व विरोधियों के बीच हुई झड़प व मारपीट के बाद पनपे आक्रोश को शांत ही नहीं किया गया बल्कि, भविष्य में इसकी पुनरावृति नहीं हो इसे लेकर सभी ने प्रशासन को आश्वासन दिया। कहा कि कोई पक्ष किसी दूसरे के आबादी वाले इलाके में जाकर सड़क जाम नहीं करेंगे। कोशिश होगी कि बड़े मुद्दों पर गांव-टोले में कोई सड़क जाम नहीं करे। इससे आपसी भाईचारा कायम रहेगा। और समाज टूटने से बच जाएगा। पंचोभ पंचायत के मुखिया राजीव चौधरी ने कहा कि समाज को बांटने को लेकर अगर कोई कोशिश किया तो उसे सामाजिक स्तर पर दंडित किया जाएगा। बाहरी आदमी के आगमन पर इसकी सूचना प्रशासन को देने की बात कही। बैठक दौरान हरिचंदा, शिवदासपुर, पंचोभ, रामपुरडीह गांवों में सात-सात सदस्यीय शांति समिति का गठन किया गया। इसमें हरिचंदा के नीलमनि पासवान, प्रो. नंदलाल शास्त्री, रामविलास महतो, ¨सहेश्वर राम, राहुल कुमार, अरूण महतो, पंचोभ गांव में नवनीत चौधरी, महेश चौधरी, रंजीत चौधरी, रत्न चौधरी, अनुप झा, विभूति झा व राम कुमार झा, रामपुरडीह गांव के रामबालक ¨सह, ललन महतो, उमाशंकर ¨सह, रंजीत ¨सह, पशुपतिनाथ मिश्र, चंदन ¨सह आदि को शामिल किया गया है। जबकि, शिवदासपुर गांव के वैजू महतो, चुल्हाई दास, रामबालक सहनी, जगदीस सहनी, विल्टू राम, रामबालक पासवान व वकील खां को शामिल किया गया है। इन लोगों को गांव में सौहार्द व शांति बहाल करने की जवाबदेही दी गई है। बैठक में सभी ने एक-दूसरे पर कोई मुकदमा नहीं करने का आश्वासन दिया और दोनों पक्ष के बीच हुई मनमुटाव को खत्म कर देने की बात कही। बैठक दौरान विशनपुर थानाध्यक्ष के अलावा राजद नेता सुनीति रंजन दास, माकपा नेता श्याम भारती, जिप सदस्य रघुजीत पासवान आदि सहित कई गणमान्य लोग उपस्थित थे।

----------------------------------------------

Posted By: Jagran