दरभंगा। जिलाधिकारी डॉ. चंद्रशेखर ¨सह ने गुरुवार को डीएमसीएच का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान ओपीडी में 12 डॉक्टर अनुपस्थित मिले, जिनसे शो-कॉज करते हुए उनके एक दिन के वेतन पर रोक लगाने का निर्देश डीएम ने दिया। इससे डॉक्टरों में हड़कंप मच गया। कई ऐसे भी चिकित्सक थे जो अपने आसपास के क्लिनिकों से हांफते हुए पहुंचे। लेकिन तब तक कई की हाजिरी कट चुकी थी। डीएम की इस औचक कार्रवाई से अनुपस्थित रहने वाले चिकित्सकों में भय का माहौल हो गया है। निरीक्षण के क्रम में डीएम ने पाया कि मरीजों को मिलने वाली 65 प्रकार की दवाओं में से मात्र 28 प्रकार की ही दवा वहां मौजूद थी। इसपर उन्होंने नाराजगी जाहिर करते हुए अधीक्षक को कई दिशा-निर्देश दिए। इस दौरान कई मरीजों ने अपनी समस्याओं से डीएम को अवगत कराया। बताया कि मरीजों को ले जाने के लिए ट्रॉली की भारी समस्या है। ट्रॉली की कमी के कारण कर्मचारी 50 रुपये का नजराना मांगते हैं। इधर, डीएम डॉ. ¨सह ने बताया कि अस्पताल में दवाओं की समस्या देखने को मिली। मरीजों को जो दवा मिलनी चाहिए, वह नहीं मिल रही है। अगर डॉक्टर ने तीन दिन की दवा दी है तो केवल उन्हें एक दिन की दवा दी जा रही है। इसको लेकर भी स्पष्टीकरण पूछा जाएगा। बताया कि समय-समय पर डीएमसीएच का औचक निरीक्षण किया जाएगा। डीएम डॉ. ¨सह ने अधीक्षक डॉ. आरआर प्रसाद को अस्पताल की व्यवस्था दुरुस्त कराने, दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित कराने आदि का निर्देश दिया। मौके पर चिकित्सक सहित कई अस्पताल कर्मी मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप