दरभंगा। अनावश्यक रूप से निलंबित पुलिस पदाधिकारी व सिपाही अब पुलिस लाइन में निलंबन के इंतजार में बैठे नहीं रहेंगे। बल्कि, उनसे ड्यूटी लिया जाएगा। अगर वे दोषी हैं तो उनपर विभागीय कार्रवाई की जाएगी। उक्त बातें दरभंगा क्षेत्र के डीआइजी क्षत्रनील ¨सह ने कही है। इस संदर्भ दरभंगा, समस्तीपुर, मधुबनी के एसपी को आदेश देकर निलंबित पुलिस कर्मियों की सूची मांगी गई है। साथ उन पर लगाए गए आरोप और अब तक की गई कार्रवाई की जानकारी भी देने को कहा है। उन्होंने कहा कि वे अब खुद जिले में विभिन्न जगहों का मुआयना कर समस्या से अवगत होंगे। ट्रैफिक समस्या को सु²ढ़ करने के लिए उन्होंने पहल शुरू की है। कहा कि उपस्कर की जो कमी है उसे स्थानीय स्तर पर क्रय की जाएगी। जो मुख्यालय स्तर से होने वाला है उसका प्रस्ताव भेजा जाएगा। उन्होंने कहा कि शराब कारोबारियों को दरभंगा में अब तक सजा नहीं मिली है। इसके पीछे क्या कारण है इसका वे स्वयं समीक्षा करेंगे। थाने स्तर पर उन्होंने भू-माफियाओं की सूची बनाने का निर्देश दिया है। ताकि, भूमि विवाद में आए दिन हो रहे हत्या पर रोक लग सके। उन्होंने बताया कि दरभंगा में एक सप्ताह के अंदर 168, मधुबनी में 147 और समस्तीपुर में 123 आरोपितों की गिरफ्तारी विशेष अभियान में की गई है। इस दौरान एक पिस्तौल, एक पिस्टल, 21 खोखा, 3 कारतूस, चार पहिया वाहन एक और 12 बाइक की बरामदगी की गई है। उन्होंने बताया कि वाहन चे¨कग में दरभंगा में 2 लाख 57 हजार, मधुबनी में 69 हजार 5 सौ, समस्तीपुर में 80 हजार 6 सौ रुपये की वसूली की गई है। वहीं दरभंगा में 29 कारोबारियों को गिरफ्तार कर 1882.320 लीटर शराब की बरामदगी की गई है। जबकि, मधुबनी में 48 और समस्तीपुर में 36 कारोबारियों को गिरफ्तार कर क्रमश: 136.950 एवं 347.285 लीटर शराब की बरामदगी की गई है।

-------------------

Posted By: Jagran