मुजफ्फरपुर [जेएनएन]। उत्तर बिहार में शनिवार को नदियां उफान पर रहींं। कई स्थानों पर जलस्तर में उतार -चढ़ाव जारी रहा। पश्चिमी चंपारण के दियारा क्षेत्र में तबाही मची है। बाढ़ के पानी में डूबने से छह लोगों की मौत हो गई। इनमें पूर्वी चंपारण के एक और दरभंगा के पांच बच्चे शामिल हैं। 

 

दरभंगा के कमतौल थाना क्षेत्र के माधोपट्टी पंचायत के खजुरवारा टोले के पांच बालकों की शनिवार को खिरोई नदी के कछार में डूबने से मौत हो गई। इससे क्षेत्र में मातमी सन्नाटा पसर गया है।

 

घटना खिरोई नदी के खनुआ चौर में नहाने के क्रम में हुई। शनिवार दिन के करीब तीन बजे की बताई जाती है। मृतकों में सभी माधोपट्टी पंचायत के खजुरवारा टोला निवासी मो. मसलेउद्दीन के पुत्र मो. कामिल उमर (16), मो.जूही के पुत्र मो. मुमशाद (15),मो. आलमगीर के पुत्र मो0 चाँद(12),मो. शमीम हसन के पुत्र मो0 कैफ हसन(15),व मो. शमशुल के पुत्र मो. जमाल हसन (14) शामिल हैं।

 

पश्चिम चंपारण में गंडक का पानी फिर बढऩे लगा है। नदी में 1 लाख 88 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा गया।कटावरोधी कार्य बंद कर दिया गया। पीपी तटबंध के कट इंड प्वाइंट पर दबाव तेज है। खड्डा रेता क्षेत्र के गांवों में पानी घुसा है। मरचहवा बसंतपुर मार्ग पर स्कूल से लौट रहे दर्जनभर बच्चे पानी में घिर गए। इन्हें ग्रामीणों ने घर पहुंचाया।

 

ठकराहा प्रखंड के गांवो में पानी घुसा है। नरकटियागंज में थोड़ी राहत है। सिकटा प्रखंड में नदियों का जलस्तर यथावत है। गौनाहा थाना क्षेत्र के श्रीरामपुर गांव के पास पंडई नदी के किनारे डूबने वाले तीसरे बच्चे का शव बरामद कर लिया गया। 

 

पूर्वी चंपारण जिले के रक्सौल अनुमंडल क्षेत्र में पहाड़ी नदियों में उफान से धान की फसलें डूब गईं। खिड़लिचिया के पास त्रिवेणी कैनाल शुक्रवार देर रात टूट गया। हालांकि, ग्रामीणों ने मिट्टी भरकर पानी को रोका। रामगढ़वा प्रखंड के लुकही देवी स्थान के समीप बांध को 30 फीट काट दिया गया। रक्सौल के वार्ड नंबर एक के छोटा परेउवा गांव के पास बाढ़ के पानी में डूबने से एक बच्ची की मौत हो गई।

 

मधुबनी जिले के झंझारपुर में कमला बलान खतरे के निशान से ऊपर है। कोसी में भी धीमी वृद्धि जारी रही। समस्तीपुर जिले के मोहनपुर में गंगा नदी के जलस्तर में वृद्धि जारी रही। सीतामढ़ी जिले के कई स्थानों पर बागमती खतरे के निशान से पार है।

 

यह भी पढ़ें: स्कूटी के भीतर से झांक रहा था सांप, देखकर चालक की हालत हुई खराब

 

फुलवरिया डायवर्सन के ऊपर से पानी बह रहा है। इससे बैरगनिया -मोतिहारी पथ का संपर्क भंग है। शिवहर जिले के पिपराही प्रखंड क्षेत्र में बागमती खतरे के निशान से ऊपर है। दरभंगा जिले के बाढ़ प्रभावित घनश्यामपुर प्रखंड में कमला बलान नदी के जलस्तर में  कमी से राहत मिली।

 

यह भी पढ़ें: भारतीय रेल में इन पदों पर होने वाली है बहाली, जानिए

Posted By: Ravi Ranjan

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप