दरभंगा। जिले के विभिन्न स्थानों पर अवस्थित नदी व सरोवरों में शनिवार को माघी पूर्णिमा के मौके पर हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं ने डुबकी लगाई। स्नान के बाद लोगों ने मंदिरों में पूजा-अर्चना की। जिले के बेनीपुर, गौसाघाट, कमतौल आदि स्थानों पर सुबह से ही श्रद्धालुओं की भारी भीड़ जुटी थी। लोग बस, टेंपो और निजी वाहनों से नदी स्नान करने पहुंचे थे।

---------

बेनीपुर, संस. : त्रिमुहानी घाट स्थित जीवछ एवं कमला नदियों के संगमधाम पर हजारों पुरुषों एवं महिलाओं ने डुबकी लगाई। इसके बाद महिलाओं ने धाम पर अवस्थित कमला मइया व राम जानकी मंदिर में की पूजा-अर्चना की। मन्नतें पूरी होने को लेकर लोगों ने अपने अपने बच्चों का जीवछ व कमला नदी के किनारे गाजे बाजे के साथ मुंडन भी कराया। मेला कमेटी के सदस्यों द्वारा संगमधाम पर स्थित विभिन्न मंदिरों को आकर्षक ढंग से सजाया गया था। संगमधाम पर लगे मेला का लोगों ने जमकर आनंद उठाया। मिठाई की दुकान एवं खिलौनों की दुकान पर बच्चों ने अपने अभिभावकों के साथ खिलौने खरीदे। भीड़ को लेकर कमेटी के सदस्य भी काफी चौकस दिख रहे थे। वहीं, मेला को लेकर थोड़ी देर के लिए जाम की स्थिति बनी रही। हालांकि, अंचल प्रशासन की ओर से पुख्ता व्यवस्था नहीं रहने को लेकर लोगों में आक्रोश देखा गया। मेला में अमरेश दासजी महाराज के दर्शन को लोगों की भीड़ उमड़ी रही। ग्रामीण चितनारायण यादव, रामपुकार यादव सहित कई लोगों ने बताया कि पूर्णिमा के अवसर पर जो लोग इस संगमधाम में डुबकियां लगाकर मन्नतें मांगते हैं, उनकी मन्नतें अवश्य पूरी होती है। मेला में बेनीपुर के पूर्व विधायक हरेकृष्ण यादव ने पहुंचकर लोगों को माघी पुर्णिमा की शुभकामना दी।

-----------

सप्त कुंड में श्रद्धालुओं ने लगाई डुबकी

कमतौल : क्षेत्र के ऐतिहासिक, पौराणिक व धार्मिक गौतम आश्रम स्थित पवित्र सप्त कुंड में

अहले सुबह हजारों श्रद्धालुओं ने डुबकी लगाई। इष्टदेव की पूजा-अर्चना कर मनौती मांगी व दान पुण्य किया। क्षेत्र के जाने माने मंडित शिवानंद झा ने बताया कि माघी पूर्णिमा के दिन स्नान-ध्यान कर दान पुण्य करने का पौराणिक महत्व है, जो विशेष फलदायी माना जाता है।

----

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप