दरभंगा। सूफी भीखा शाह सैलानी के उर्स के दूसरे दिन रविवार को चादरपोशी के लिए अकीदतमंदों की कतारें लगी रही। सुबह में कुरानखानी एवं दुआ के बाद चादरपोशी आरंभ हो गई। पांच दिवसीय उर्स के दूसरे दिन भी अकीदतमंदों का तांता लगा रहा।मिश्रटोला स्थित भीका शाह सैलानी की म•ार सैकड़ों सालों से लोग की आस्था का केंद्र बना हुआ है।लोग यहां अपनी मन्नतें पूरी करवाने आते हैं। 29 अगस्त तक चलने वाले इस उर्स में स्थानीय युवा अब्दुल सुबहान शाह,मो शब्बीर शाह,एहसान शाह,गुलाम मोहम्मद, सुदिष्ट मंडल,राजू मंडल,राजेश सहनी आदि की टोली जायरीनों के कदम कदम पर मदद करने को तत्पर दिखे।मजार के परिसर में सजी दुकानें वातावरण को और भी खुशगवार बनाए हुई हैं। दरगाह के खादिम शाह मो. शमीम ने बताया कि उर्स में सभी संप्रदायों के श्रद्धालुओं की जुटान होती। अपनी मनचाही मुरादों को पूरा करवाने यहां बाबा के दरबार में हाजिरी लगाने दूर दराज से लोग आते हैं। सुबह की नमाज के बाद से ही मजार श्रद्धालुओं के लिए खोल दी जाती है जो रात्रि 10 बजे तक खुली रहती है।

Posted By: Jagran