दरभंगा। एक ओर जहां केंद्र सरकार प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत सड़कें बनाने का दावा कर रही है, वहीं सरकारी नुमाइंदे ठेकेदारों के साथ मिलकर सरकारी दावों की हवा निकाल रहे हैं। ठेकेदार न सिर्फ मानकों को ताक पर रखकर सड़क निर्माण कर रहे हैं बल्कि सरकारी नियमों की भी धज्जियां उड़ा रहे हैं। ताजा मामला गौड़ाबौराम प्रखंड के आसी से विष्णुपुर तक बन रही सड़क का है।

सड़क निर्माण में महज मिट्टी और बजरी का इस्तेमाल किया गया है। वहीं, तारकोल सिर्फ नाम मात्र का ही लगाया जा रहा है।इसके कारण ग्रामीणों ने ठेकेदार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। ग्रामीणों ने सड़क पर आकर न सिर्फ जमकर हंगामा किया बल्कि संवेदक का पुतला दहन कर सांसद से जांच कराए जाने की मांग भी की। ग्रामीणों का आरोप है कि सड़क निर्माण में ठेकेदार मनमानी कर रहे हैं। लाल बालू, गिट्टी एवं अलकतरा कम मात्रा में डाली गई है। जिससे यह सड़क बनते ही टूटने लगी है।

बताया कि आसी से भदौन आदि गांवों से होते हुए

विष्णुपुर गांव तक प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के अंतर्गत लगभग पौने पांच किलोमीटर लंबी सड़क का निर्माण कार्य किया जा रहा है। सड़क के निर्माण के लिए करीब तीन करोड़ की राशि स्वीकृत है। बावजूद ठेकेदार मनमानी कर रहे हैं। चार इंच माल डालने की बजाए आधे इंच बजरी डालकर सड़क बनाई गई है। कई जगहों पर सड़कें धंस गई है।

पुतला दहन का नेतृत्व कर रहे लोजपा प्रखंड अध्यक्ष राजकुमार झा ने आरोप लगाया है कि सड़क निर्माण में सामग्री मानक के अनुरूप नहीं लगाई गई है। ग्रामीण राकेश ¨सह ने बताया कि सड़क ठेकेदार की हठधर्मिता के चलते आसी गांव में सड़क निर्माण से पहले ही संवेदक फरार हो गया।मालूम हो कि पिछले वर्ष नवंबर माह में सांसद ने इस सड़क का शिलान्यास किया था। मौके पर लक्ष्मण झा, प्रदीप कमती, नागेश्वर, कालेश्वर साहु, मदन कमती, अनिल कमती, रामजतन राम सहित दर्जनों लोग मौजूद थे।

---------------

Posted By: Jagran