दरभंगा। स्कूलों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा व्यवस्था के लिए जरूरी है कि बीआरपी एवं सीआरसीसी सभी काम निपुणता से करें। इस व्यवस्था को कायम करने से पहले भी बीआरपी एवं सीआरसीसी को कार्य की प्रकृति और उसके सूक्ष्मता को जानना जरूरी है। उक्त बातें सोमवार को बीआरसी सदर में नवचयनित बीआरपी एवं सीआरसीसी के उन्मुखीकरण प्रशिक्षण कार्यशाला का उदघाटन करते हुए प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी देवशरण राउत ने कही। उन्होंने कहा कि उन्मुखीकरण प्रशिक्षण में बीआरपी एवं सीआरसीसी को कार्य की भूमिका एवं दायित्व का पाठ पढ़ाया जाएगा। प्रमंडल स्तरीय प्रशिक्षण शिविर में 40 - 40 के दो बैच में प्रशिक्षणार्थियों को प्रशिक्षण दिया गया। पहले बैच के प्रशिक्षणार्थियों को जिला के अरुण कुमार यादव एवं विनय कुमार झा अपने राज्य स्तरीय मास्टर ट्रेनर ललित कुमार ¨सह एवं जकी इमाम के मार्गदर्शन में ट्रे¨नग दी। दूसरे बैच को राज्य स्तरीय मास्टर ट्रेनर के मार्गदर्शन में सीताराम झा एवं मधुबनी के सतीश चंद्र झा ने प्रशिक्षण दिया। प्रशिक्षणार्थियों को ही कल भी प्रशिक्षण दिया जाएगा।

Posted By: Jagran