दरभंगा। सिमरी थानाक्षेत्र के एक गांव में केरोसिन व पेट्रोल छिड़ककर आग लगाने से झुलसी लड़की की मौत के बाद हत्याकांड के आरोपित अभिषेक कुमार सिंह ने शनिवार की रात मधुबनी जिले के झंझारपुर में अपने एक रिश्तेदार के यहां जहर खाकर मौत को गले लगा लिया। रविवार को युवक के माता-पिता ने शव को अपने गांव लाकर सिमरी थाने की पुलिस को घटना की सूचना दी। थानाध्यक्ष हरिकिशोर यादव ने युवक के शव को पोस्टमार्टम के लिए डीएमसीएच भेज दिया।

बताया गया कि मरने से पहले लड़की ने पीएमसीएच के इमरजेंसी वार्ड में पुलिस को बयान दिया था, जिसमें अभिषेक पर कई गंभीर आरोप लगाए थे। इसके आलोक में पुलिस ने भारतीय दंड विधान की धारा 376, 354 बी, 307, पाक्सो एक्ट के तहत कांड संख्या 263/21 अंकित किया था। युवती के झुलसने के ही दिन 12 सितंबर को आरोपित युवक अभिषेक सिंह ने जिला मुख्यालय में एसएसपी आवास के पास जहर खाकर आत्महत्या करने की कोशिश की थी। इसी दौरान लड़की की ओर केस होने की सूचना पर इलाज के बाद ठीक होने के बाद वह अस्पताल से फरार होकर झंझारपुर अपने रिश्तेदार के यहां रह रहा था। इस बीच उसने दोबारा जहर खाकर अपनी जीवन लीला को समाप्त कर लिया। आग से झुलसी लड़की ने अपने बयान में कहा था कि अभिषेक कुमार वीडियो वायरल करने की धमकी देकर दुष्कर्म करता था। जब लड़की ने घटनाक्रम की जानकारी माता पिता को देने का मन बनाया तो आरोपित युवक अभिषेक ने गुस्से में आकर अपने हाथ में लिए पांच लीटर केरोसिन तेल छिड़क कर जेब से माचिस निकाल कर उसे आग के हवाले कर दिया था। डीएमसीएच से प्राथमिक उपचार के बाद पीएमसीएच में इलाज के दौरान युवती की मौत हो गई। वहीं युवक ने शनिवार की रात विषपान कर जान दे दी। पुलिस मामले की जांच कर रही है। पुलिस का कहना है कि जल्द ही सारी जानकारी सामने आ जाएगी।

-

Edited By: Jagran