दरभंगा । किरतपुर प्रखंड के जमालपुर थाने के झगरूआ गांव में बुधवार की दोपहर में आग लगने से करीब 57 घर जल गए। एक बच्चे की मौत हो गई। आधा दर्जन मवेशियों की झुलसने से मौत हो गई। सूचना मिलने पर मौके पर जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एसएम मौके पर पहुंचे। अग्निपीड़ितों से मुलाकात कर सांत्वना दी। मृत बच्चे के परिजन को आपदा प्रबंधन प्रावधानों के तहत चार लाख रुपये का चेक अनुग्रह अनुदान के रूप में सौंपा।

बताया जाता है कि दोपहर करीब ढाई बजे आग की लपटें मोहम्मद के घर से निकली। देखते ही देखते आग चारों तरफ फैल गई। इस बीच दो गैस सिलेंडर फटने से आग बेकाबू हो गया। बस्ती में ज्यादातर लोगों के घर झोपड़ीनुमा थी। इस वजह से भी आग के फैलने में देर नहीं लगी। गांव में चारों ओर अफरा-तफरी मच गई। बदहवास लोग जान बचाने के लिए बाल बच्चों समेत भागे। किसी का कोई भी सामान नहीं बच पाया। आग में झुलसकर गांव के ही मो. हकरू के तीन वर्षीय पुत्र मो. सईद की मौत हो गई। अग्नि पीड़ितों में दर्जनभर परिवार में बेटी की शादी के लिए सामान जमा कर रखा गया था, जो आग की भेंट चढ़ गया। अगलगी की सूचना पुलिस को दी गई। घनश्यामपुर तथा जमालपुर से पहुंची फायर ब्रिगेड की टीम ने गांव पहुंचकर आग पर काबू पाया। एसडीओ ब्रजकिशोर लाल, बीडीओ रेणु कुमारी सहित कई अधिकारी गांव पहुंचे। राहत तथा बचाव कार्य में जुट गए। घटना के बाद से गांव में कोहराम मचा है। मौके पर पहुंचे जिलाधिकारी ने घटनास्थल पर कैंप कर रहे पदाधिकारियों को राहत कार्य तेजी से चलाने का निर्देश दिया। अग्नि पीड़ित परिवारों के बीच पॉलीथिन शीट्स का वितरण कराया जा रहा है एवं खाद्यान्न सामग्री तैयार कर उपलब्ध कराया जा रहा है। डीएम ने कैंप में ही सभी पीड़ित परिवारों को आपदा प्रबंधन विभाग के प्रावधानों के तहत सहायता राशि 9800 रुपये तुरंत वितरण कराने के लिए कहा है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप