दरभंगा। कुशेश्वरस्थान प्रखंड के सोहरबा गांव में चल रहे साप्ताहिक श्रीमद्भागवत कथा के चौथे दिन सोमवार को कथा सुनने वाले श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी। कथा वाचक साध्वी निष्ठा अवस्थी ने गोविद के बाल लीला एवं गोवर्धन पूजा का विस्तार से वर्णन किया। उन्होंने गोविद के बाल लीला पर चर्चा करते हुए कहा कि गोविद के पास आने से सभी जीवों को कल्याण हो जाता है। साध्वी ने पुतना का उदाहरण देते हुए कहा कि कंस के कहने पर पुतना ने भगवान को मारने के नीयत से अपने स्तन पर बिष का लेप लगाकर आई थी। बावजूद भगवान के पास आने मात्र से ही उन्हें मुक्ति मिल गया। साध्वी द्वारा प्रस्तुत संगीतमय कथा पर श्रोता झूमते रहे। प्रति दिन सुबह में हो रहे श्लोक वाचन व दोपहर बाद संगीतमय कथा से क्षेत्र भक्तिमय बना हुआ है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस