दरभंगा। शराबबंदी की सफलता, समाज में अमन, चैन, शांति व सांप्रदायिक सद्भाव कायम रखने के लिए एसएसपी बाबू राम अब जनसंपर्क अभियान चलाकर लोगों को जागरूक करेंगे। नई तरकीब की शुरूआत बुधवार को हायाघाट से करेंगे। इसके बाद बारी-बारी से आम लोगों को पुलिस से जोड़ने का काम करेंगे। अभियान को सफल बनाने के लिए शहर से लेकर गांव और मोहल्लों में जागरूक लोगों की एक टोली बनाएंगे। जो सीधे तौर पर एसएसपी से जुड़कर संवाद स्थापित करेंगे और उन्हें विश्वास में लेंगे। यह जताने की कोशिश करेंगे उन्हें शराब कारोबारियों, अपराधियों और असामाजिक तत्वों से अब डरने की जरूरत नहीं है। आप सूचना दें, हम कठोर कार्रवाई करेंगे इस वचन के साथ स्वच्छ समाज बनाने के संकल्प में सभी का साथ लेंगे। एसएसपी राम ने बताया कि कई ऐसी सूचनाएं हैं जिस पर थाना स्तर पर कार्रवाई नहीं की जाती है। इसमें थानेदार, अन्य पुलिस पदाधिकारी और चौकीदार की लापरवाही के साथ-साथ कार्रवाई के प्रति इच्छाशक्ति की कमी रहती है। यही कारण है कि आम लोग किसी भी तरह की सूचना देने से परहेज करते हैं। लेकिन, अब ऐसे लोगों की मनमानी नहीं चलेगी। जागरूक और जवाबदेह लोगों की सोच को सकार किया जाएगा। आम लोगों के पास ऐसी कई सूचनाएं होती है जिस पर पुलिस समय रहते कार्रवाई कर बड़ी घटनाओं को रोक सकती है। उन्होंने बताया कि जागरूक लोगों की टोली में समाज के प्रबुद्ध लोगों और युवाओं को शामिल किया जाएगा। जिनका सीधा संपर्क हम से रहेगा। साथ ही सभी को प्रोत्साहित भी किया जाएगा। कहा कि समाज को मुख्य धारा से जोड़ने व शांति कायम रखने में युवाओं की भूमिका अहम है। साथ ही सूचना तंत्र भी मजबूत रहता है। इसका ख्याल रखते हुए युवाओं से विशेष सहयोग लेने की बात कही। एसएसपी ने बताया कि आबादी का एक भाग थाने-पुलिस से दूर रहना चाहते हैं। ऐसी स्थिति में आज थाने में दो तरह के लोग जाते हैं। एक जनप्रतिनिधि जो जरूरतमंदों को मदद करना चाहते हैं। दूसरे दलाल जो लोगों को ठगने का काम करते हैं। ऐसे लोग थाना में न आए और लोग उन दलाल व दोषी पुलिस कर्मियों की पहचान करें ताकि, समय रहते ऐसे लोगों पर कार्रवाई की जा सके। कहा कि आम लोग जबतक थाने से दूरी बनाकर रखेंगे ऐसे लोग हावी होते रहेंगे। आम लोगों का थाना है, आम लोगों की सुरक्षा के लिए पुलिस है यह समझना होगा। हो सकता है कि छोटे पुलिस कर्मी किसी को डांट दे। लेकिन, इसकी शिकायत वरीय अधिकारियों से करना चाहिए। हो सकता है इससे समस्याओं का वहां निदान हो जाए। यह सोच कर निराश नहीं होना चाहिए कि सभी पुलिस कर्मी खराब होते हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस