दरभंगा। अब राज्य सरकार के कार्यालयों में बाबुओं की लेट लतीफी को ठीक करने की कवायद तेज की गई है। कर्मियों की मनमर्जी नहीं चलेगी। लेट से आना और समय से पहले कार्यालय छोड़कर भाग जाने की शिकायत को जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एसएम ने गंभीरता से लिया है। उन्होंने बॉयोमीट्रिक पद्धति से कार्यालयों में कर्मियों की उपस्थिति दर्ज करवाने और अनुपालन प्रतिवेदन भेजने का आदेश दिया है।

डीएम ने जिले के सभी अनुमंडलीय पदाधिकारी, सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, सभी अंचल अधिकारी व सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को इस सिलसिले में आवश्यक निर्देश दिए हैं। सभी को कहा है- अपने अधीनस्थ कार्यालयों में सभी कर्मियों के आगमन व प्रस्थान का अनुश्रवण बॉयोमीट्रिक मशीन के माध्यम से करें। इस कार्य में सहयोग की आवश्यकता है तो जिला आईटी प्रबंधक से समन्वय स्थापित करें।

2017 में भी हुई थी कोशिश

वर्ष 2017 में भी बॉयोमीट्रिक मशीन लगाकर कर्मियों का उपस्थिति दर्ज कराने की कवायद हुई थी। लेकिन, यह व्यवस्था पूरे तौर पर लागू न हो सकी। आलम यह रहा कि कतिपय कार्यालयों में कुछ कर्मियों के विलंब से कार्यालय आने और समय से पहले कार्यालय छोड़ने की शिकायतें मिलती रहती है।

आरटीआइ कार्यकर्ता ने जिलाधिकारी को दी थी जानकारी

आरटीआइ कार्यकर्ता प्रेमनाथ सिंह ने विभिन्न कार्यालयों में बॉयोमीट्रिक मशीन का उपयोग नहीं होने के कारण कार्यालय कर्मियों की ओर से लेटलतीफी की शिकायत की है। डीएम ने आदेश की प्रति देकर इसकी सूचना आरटीआई कार्यकर्ता को भी दी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस