बक्सर : ब्रह्मपुर प्रखंड के 17 पंचायतों में चुनाव कराने के लिए ईवीएम मशीन और बैलट बाक्स के साथ कर्मी मतदान केंद्र के लिए रवाना हो गए। मौके पर पुलिस अधीक्षक नीरज कुमार सिंह ने कर्मियों को चेतावनी देते कहा कि शांतिपूर्ण मतदान संपन्न कराने के लिए सभीं को पूरी तरह सतर्क रहना होगा।

एसपी ने सभी कर्मियों को चेतावनी देते कहा कि चुनाव के दौरान किसी तरह की गड़बड़ी करने या प्रभावित करने वाले ग्रामीणों के साथ ही चुनाव कार्य में लगे कर्मचारियों के विरुद्ध भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी। निष्पक्ष तरीके से चुनाव संपन्न कराने का आह्वान करते हुए उन्होंने कहा कि बिना वजह आम जनता को कोई कर्मी परेशान नहीं करेंगे। मौके पर डुमरांव अनुमंडलाधिकारी कुमार पंकज ने कहा कि बिहार यूपी के सीमावर्ती क्षेत्रों में पूरी तरह सतर्कता बरतना जरूरी है। सीमावर्ती क्षेत्र के अलावा बगेन थाना के आधा दर्जन पंचायतों में विधि व्यवस्था कायम रखने के लिए तीन स्तरों पर सुरक्षा व्यवस्था की तैयारी की गई है।

बिहार यूपी के सीमावर्ती क्षेत्र में अश्वारोही पुलिस तैनात

बिहार यूपी के सीमावर्ती क्षेत्र को पूरी तरह से सील कर दिया गया है और निगरानी रखने के लिए अश्वारोही पुलिस के जवान पूरे इलाके में तैनात किए गए हैं। चुनाव के दिन लगातार सीमा क्षेत्र की निगरानी करेंगे। अवैध मतदान रोकने के लिए बायमेट्रिक मशीन का सहारा लिया जाएगा। इस मशीन द्वारा अटेंडेंस बनाए जाने के कारण किसी तरह का बोगस मतदान नहीं हो पाएगा। इस पर पीठासीन पदाधिकारियों को विशेष तौर पर निगरानी करने का निर्देश दिया गया।

नैनीजोर औऱ बगेन थाना के पंचायत अतिसंवेदनशील

बिहार यूपी के सीमा क्षेत्र से सटा हुआ उत्तरी और दक्षिणी नैनीजोर पंचायत काफी संवेदनशील है। विशेषकर पंचायत का ढाबी टोला इलाके से काफी कटा और सुदूर क्षेत्र में है। इन पंचायतों में किसी तरह की गड़बड़ी रोकने के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। अनुमंडल अधिकारी कुमार पंकज ने कहा कि सीमावर्ती क्षेत्र के अलावा बगेन थाना क्षेत्र के आधा दर्जन पंचायत भी काफी संवेदनशील है। इन पंचायतों में विशेष चौकसी बहुत जरूरी है। मामूली गड़बड़ी की सूचना मिलने के बाद सभीं तत्काल वरीय अधिकारी को सूचना देंगे, जिससे समय से कार्रवाई की जा सके।

देर रात तक जाते रहे मतदान कर्मी

सरपंच और पंच सदस्य का चुनाव बैलेट पेपर पर कराने के लिए बैलट बॉक्स का वितरण सबसे पहले कर दिया गया। लेकिन ईवीएम मशीन का वितरण का काम काफी देर से शुरू हुआ और देर रात तक मशीन वितरण का कार्य चलता रहा। इसके कारण ईवीएम मशीन के साथ कर्मियों और पुलिस बल के जवानों को देर रात तक पंचायत के कलस्टर पर भेजने का काम जारी रहा।

100 अधिकारियों और कर्मियों ने नहीं किया योगदान

29 नवंबर को ब्रह्मपुर प्रखंड में होने वाले चुनाव ड्यूटी में लगाए गए लगभग 100 अधिकारियों और कर्मचारियों ने विभिन्न कारणों से अपना योगदान नहीं किया। उनके स्थान पर रिजर्व कर्मचारियों को तैनात कर मतदान केंद्रों पर भेज दिया गया। निर्वाची पदाधिकारी सह प्रखंड विकास पदाधिकारी आशीष कुमार मिश्रा ने बताया कि शादी विवाह या किसी बीमारी के कारण पीठासीन पदाधिकारी और कर्मचारी योगदान नहीं कर पाए। कुछ लोगों ने जिला में और कुछ लोगों ने ब्रह्मपुर में भी आवेदन दिया है। योगदान नहीं करने वाले कर्मियों की सूची जिला प्रशासन के पास कार्रवाई के लिए भेज दी जाएगी।

Edited By: Jagran