बक्सर । पिछले बुधवार को कर्मनाशा नदी का जलस्तर बढ़ने से जहां सैकड़ों एकड़ खेतों में लगी फसल डूब गई थी। वहीं, बनारपुर के दर्जनों घरों में पानी समा गया था। लेकिन, शनिवार को पानी घटने से लोगों ने राहत की सांस ली। लेकिन, मंगलवार से दुबारा कर्मनाशा उफना गई है। जिससे जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। ग्रामीणों द्वारा बताया गया कि इस बार पानी बढ़ने की ऱफ्तार तेज है। जलस्तर बढ़ने से बनारपुर में दर्जनों घरों में पानी समाने से उन घरों में रहनेवाले लोग बेघर हो गए हैं। वहीं, सिकरौल गांव पूरी तरह पानी से घिर चुका है। गांव के बाहर पूरा क्षेत्र जलमग्न हो गया है।

एक सप्ताह के अंदर दूसरी बार कर्मनाशा में आई बाढ़ से नदी का जलस्तर बढ़ गया है। जिससे कर्मनाशा के निचले क्षेत्र पूरी तरह बाढ़ के आगोश में समा गए। बनारपुर गांव के मल्लाह टोली के दर्जनों घरों में पानी भर गया है। इसके बगल के गांव सिकरौल में बाढ़ ने कहर बरपा रखा है। बाढ़ के पानी से गांव का पूरा क्षेत्र जलमग्न होने से गांव पूरी तरह घिर गया है। वहीं, सैकड़ों एकड़ भूमि पर लगी फसलें भी पूरी तरह डूब गई है। बाढ़ के चलते गांव का संपर्क मार्ग पानी से डूबने से गांव मुख्य पथ से कट गया है। बावजूद, गांव के लोग पानी में घुस उसी रास्ते से आवागमन कर रहे हैं। जिससे कई प्रकार का खतरा बना हुआ है। गांव के बाहर जलमग्न होने से खेतों में लगी धान की फसल तथा पशुचारा डूब गया है।

Posted By: Jagran