बक्सर : गुरुवार को भोलेनाथ का सबसे प्रिय मास सावन चढ़ते ही बाबा ब्रह्मोश्वर नाथ की नगरी ब्रह्मापुर पूरी तरह से शिवमय हो गया है। पूरे ब्रह्मापुर क्षेत्र में बोल बम तथा हर हर महादेव का जयघोष सुनाई देने लगा है। गुरुवार की सुबह चार बजे मंदिर खुलते ही श्रद्धालु भक्त बाबा ब्रह्मोश्वर नाथ के जलाभिषेक के लिए उमड़ पड़े। पुरुष महिलाओं की लंबी कतार लगी थी।

सावन महीना में भोलेनाथ को बेलपत्र के साथ जल चढ़ाने की प्राचीन परंपरा है। बेलपत्र पर राम-राम लिखकर बाबा ब्रह्मोश्वर नाथ को चढ़ाने की होड़ सुबह से भक्तों में मची थी। ऐसे हजारों श्रद्धालु भक्त हैं जो सावन महीना में बाबा का नियमित दर्शन पूजा तथा जलाभिषेक करते हैं। ऐसे लोग पूरे एक महीना के अनुष्ठान को पूरा करने के लिए ब्रह्मापुर में कैम्प कर रहे है। पवित्र सावन महीना में महामृत्युंजय का जाप तथा बाबा का भव्य श्रृंगार पूजा एवं संध्या आरती का आयोजन किया जा रहा है। मंदिर के आसपास रहने वाले दुकानदार वह अन्य लोग भी पूरे एक महीना के लिए अपने दिनचर्या में बदलाव कर बाबा एवं उनके भक्तों के सेवा में खुद को समर्पित कर देते हैं। शुक्रवार और सोमवार को मंदिर पर विशेष पूजा के लिए काफी अधिक भीड़ होती है। शुक्रवार को ध्यान में रखते हुए मंदिर के आसपास एक दिन पहले ही विशेष तैयारी कर ली गई थी। मंदिर कमेटी के पंडित उमलेश पांडे का कहना है कि हम सबका प्रयास यह है कि किसी भी श्रद्धालु भक्त को बाबा का दर्शन पूजा में कोई दिक्कत ना आए। उधर सावन चढ़ते ही मंदिर पर प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है। मंदिर प्रांगण में आने वाले हर एक व्यक्ति पर प्रशासन की पैनी नजर है। बार-बार सीसीटीवी कैमरे का अवलोकन कर हर किसी के संदिग्ध गतिविधि पर नजर रखी जा रही है। श्रावणी महोत्सव पूरे एक महीना चलेगा। इसको लेकर ब्रह्मापुर पूरी तरह से गुलजार हो चुका है।

Edited By: Jagran