बक्सर । पुलिस अधीक्षक उपेंद्रनाथ वर्मा के नेतृत्व में गुरुवार को क्राइम मी¨टग का आयोजन किया गया। पुलिस कार्यालय में आयोजित बैठक के दौरान एसपी ने जिले के विभिन्न थानों में हुए अपराध की समीक्षा की गई। गत बैठक में दिए गए टास्क को पूरा नहीं करनेवाले थानाध्यक्षों को एसपी ने कड़ी फटकार लगाते हुए कांडों के जल्द निष्पादन का आदेश दिया।

गुरुवार को सरस्वती पूजा शांति पूर्ण माहौल में संपन्न होने के साथ ही पुलिस अधीक्षक की अध्यक्षता में क्राइम मी¨टग का आयोजन किया गया। इस दौरान एसपी ने बारी-बारी से एक-एक थाना के अपराध की समीक्षा की। और निष्पादित किए गए कांडों के ब्योरा की जानकारी ली। पूर्व की बैठक में दिए गए टास्कों का जिन थानाध्यक्षों ने बेहतर ढंग से पालन किया था उन्हें एसपी ने प्रोत्साहित किया। तो जिन लोगों ने काम के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति करने का काम किया था उन्हें एसपी के कोप का भाजन बनना पड़ा। बैठक में शामिल थानाध्यक्षों को एसपी ने सख्त हिदायत दी कि प्रतिदिन वारंटियों की धरपकड़ होनी चाहिए। साथ ही लम्बित पड़े कांडों का निष्पादन भी करना होगा। जिन लोगों को काम नहीं करना है वो घर जाने के लिए तैयार रहें। बताते चलें कि गत सप्ताह डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय के बक्सर आगमन तथा अपराध नियंत्रण की दिशा में दिए गए सख्त हिदायत के बाद जिला पुलिस के कार्य करने की शैली में बदलाव के लक्षण साफ दिखाई देने लगे हैं। यह जिले में लगातार हो रहे अपराध सुधार की दिशा में एक बेहतर संकेत माना जा रहा है। बैठक में सदर डीएसपी सतीश कुमार तथा डुमरांव डीएसपी के अलावा जिले के सभी थानाध्यक्ष मौजूद रहे।

Posted By: Jagran