बक्सर : डुमरांव अनुमंडल के अमसारी में हुई घटना बहुत ही दुखद है। ऐसी घटनाओं पर रोक लगनी चाहिए। वैसे अमसारी में पहले भी कार्रवाई हुई है। इस घटना के बाद अब तक जो बातें सामने आई हैं और वहां मौजूद लोगों ने जो बताया है उसके अनुसार मरने वाले सभी लोगों ने उजले पदार्थ का सेवन किया था। जिलाधिकारी अमन समीर ने ये बातें कहीं। शुक्रवार को समाहरणालय सभाकक्ष में वह प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित कर रहे थे।

डीएम ने कहा कि जिले में शराब निर्माण के 33 हाट स्पाट को चिह्नित कर कार्रवाई की जा रही थी। अमसारी में भी पहले कार्रवाई हुई है। सुखु मुसहर को छोड़ दें तो इस घटना में शेष मरने वाले सभी संपन्न घर के लोग थे। जिन छह लोगों की मृत्यु हुई है उनमें पांच लोगों को आपराधिक इतिहास भी रहा है। इनमें तीन लोगों पर उत्पाद अधिनियम के तहत चार केस दर्ज हैं तो एक पर शराब बनाने का आरोप है। डीएम ने कहा कि प्रशासन अपना काम कर रहा है। यह सामाजिक बुराई है और जन जागरुकता के माध्यम से ही इससे निपटा जा सकता है। उन्होंने कहा कि सभी को सरकार के नियमों का पालन करना होगा।

बेसरा और फारेंसिक जांच से स्पष्ट हो जाएगी मौत की वजह : एसपी

पुलिस अधीक्षक नीरज कुमार सिंह ने कहा कि 26 जनवरी को अमसारी में तालाब के पास पार्टी हुई थी। पार्टी में नशीला पदार्थ का लोगों ने सेवन किया और देर रात पांच लोगों की मौत हो गई, जबकि शुक्रवार को भी एक व्यक्ति ने दम तोड़ दिया। जो लोग इस पार्टी में शामिल थे, जिन्होंने खाना बनाया था, उन सभी से और मरने वालों के परिजनों से भी उन लोगों की वार्ता हुई है। एसपी ने बताया कि कुछ और बातें हैं जिसको शेयर नहीं किया जा सकता है। वैसे मरने वाले सभी लोगों का बेसरा जांच के लिए भेज दिया गया है। पार्टी वाले स्थल से मिले साक्ष्यों को भी फारेंसिक जांच के लिए भेज दिया गया है। इसके बाद यह स्पष्ट हो जाएगा कि इन सभी की मौत कैसे हुई। एसपी ने बताया कि इस मामले में कई लोगों को हिरासत में भी लिया गया है, जिनसे पूछताछ की जा रही है। जिले में मद्य निषेध को सख्ती से लागू किया जा रहा है और जो भी इसकी जद में आएगा बख्शा नहीं जाएगा। एसपी ने लोगों से अपील की कि जो भी लोग इसमें संलिप्त हैं वे दूरी बना लें ताकि, इस घटना की पुनरावृत्ति न हो सके। कहां से आई और कहां गई बाकी शराब, पड़ताल कर रही पुलिस

पुलिस प्रशासन भले ही यह कह रहा है कि उजला रंग के पदार्थ के सेवन से अमसारी में सभी छह लोगों की मौत हुई, लेकिन पार्टी में वह उजला पदार्थ कहां से आया और जहां उसका निर्माण हुआ वहां से उसकी आपूर्ति और कहां-कहां की गई, इस पर पुलिस-प्रशासन की पैनी नजर है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इसकी पड़ताल की जा रही है। हिरासत में लिए लोगों से भी इस बारे में पूछताछ की जा रही है।

Edited By: Jagran