बक्सर : गुरुवार को बुढैला गांव में वृद्ध किसान की गला रेत कर हुई हत्या मामले का पुलिस ने महज 24 घंटे के अंदर इसका उद्भेदन कर लिया। साथ ही, हत्या मामले के अभियुक्त मृतक के पौत्र छोटू राय उर्फ पिटू राय को गिरफ्तार कर लिया जेल भेज दिया। पुलिस की पूछताछ में पता चला कि बंटवारा के विवाद में पौत्र ने अपने दादा की चाकू से गला रेतकर हत्या कर दी थी। हालांकि, हत्या में इस्तेमाल किया गया चाकू पानी में फेंक दिए जाने के कारण पुलिस अभी बरामद नहीं कर सकी है।

इसकी जानकारी डुमरांव एएसपी कुमार राज ने नावानगर थाना में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान देते हुए बताया कि शव बरामद होने के बाद पुलिस को शंका हुई थी कि मामले में परिवार के लोग शामिल हैं। छानबीन के क्रम में परिवार के दो सदस्यों को हिरासत में लेकर अलग-अलग की गई पूछताछ में सारा मामला साफ हो गया। मृतक के पौत्र छोटू राय उर्फ पिटू राय पिता सरल राय ने हत्या की बात कबूल करते हुए बताया कि उसके दादा ने संतोष राय को जमीन लिख दी थी, जिससे वह नाराज था। इसको लेकर पहले उसने संतोष राय की हत्या की योजना बनाई थी, पर बाद में पहले घटना की जड़ दादा को ही रास्ते से हटाने का फैसला करते हुए चाकू से गला रेत कर हत्या कर दी और शव को घसीटते हुए स्कूल के पीछे ईख के खेत में फेंक दिया। पुलिस की पूछताछ में उसने बताया कि पास मौजूद एक गड्ढे में उसने हत्या में इस्तेमाल चाकू को फेंक दिया था। हालांकि, पुलिस के तमाम प्रयासों के बाद भी चाकू को अभी बरामद नहीं किया जा सका है। इस मामले में मृतक रामगोविद राय के भतीजा संतोष राय ने मृतक के पुत्र सरल राय, बहू रीता देवी, पौत्र भोला राय और छोटू राय समेत पौत्री आंचल कुमारी पर हत्या का इल्जाम लगाते हुए नावानगर थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई है। बताते चलें कि गुरुवार की सुबह शौच करने गए बुढैला निवासी राम गोविद राय का शव ईख के खेत से बरामद हुआ था। उनकी हत्या किसी धारदार हथियार से गला रेत कर की गई थी। इस मामले के अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है।

Edited By: Jagran