बक्सर । नैनीजोर थाना क्षेत्र के बदलइया मोड़ के पास यूपी के शराब कारोबारी के सेल्समैन से मारपीट कर हुई ढाई लाख रुपये की लूट लिए गए थे। घटना के चार दिन बीतने के बाद भी पुलिस खाली हाथ है। शनिवार की शाम हुई लूट की इस घटना के बाद से ही पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान उठाया जा रहा है। वहीं, अपराधियों की गिरफ्तारी नहीं होने से स्थानीय ग्रामीणों में दहशत का माहौल कायम है। मामले में सेल्समैन द्वारा दो नामजद सहित कुल सात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार उतर प्रदेश के जवहीं दियरा में बक्सर जिले के अंसारी गांव निवासी दीनानाथ ¨सह की शराब की दुकान चलती है। जिसका सेल्समैन रणविजय ¨सह प्रतिदिन बिक्री का पैसा कभी नैनीजोर गंगौली तटबंध तो कभी नैनीजोर ब्रह्मपुर मार्ग से होते बक्सर जाता था। शनिवार की शाम साढ़े पांच से छ बजे के करीब वह बाइक से बिक्री का दो लाख चालीस हजार रुपया लेकर बक्सर जा रहा था। इसी बीच बदलइया मोड़ के पास बाढ़ राहत से बचाव के लिए रखे गए बालू की बोरी को ही हथियार बना अपराधियों ने उसके बाइक को रोक लिया। इसके बाद उसके कनपटी पर कट्टा सटाकर पैसे का मांग करने लगे। विरोध करने पर अपराधियों ने उसके साथ मारपीट की। तथा कट्टा की बट से उसके सिर पर जोरदार प्रहार कर जख्मी करते हुए डिक्की में रखा दो लाख चालीस हजार नगद और दो मोबाइल लेकर अपराधी फरार हो गए। होश में आने के बाद सेल्समैन हल्ला कर ग्रामीणों के माध्यम से घटना की जानकारी दुकान मालिक को दी। ग्रामीणों द्वारा ही लूट की जानकारी स्थानीय पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस मामले में करवाई करने की जगह मैनेज करने के प्रयास में लग गई। लेकिन कारोबारी द्वारा अड़े जाने के बाद लूट का मामला दर्ज हुआ। जिसमें सेल्समैन द्वार दो अज्ञात और पांच अन्य के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया। जिसमें एक राजेश उर्फ चाई यादव स्थानीय थाना के महुआर गांव का निवासी है। लेकिन घटना के चार दिन बाद भी पुलिस नामजद अपराधियों में से एक को भी गिरफ्तार नहीं कर सकी। मामले में पुलिस की लापरवाही उसकी कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान खड़ा कर रहा है। इस बाबत थाना प्रभारी जितेन्द्र कुमार से उनके सरकारी नम्बर पर संपर्क करने का प्रयास किया गया। लेकिन संपर्क नही हो पाया। जिससे उनका पक्ष मालूम नहीं हो सका।

Posted By: Jagran