बक्सर। बक्सर प्रखंड मुख्यालय स्थित शिव मंदिर के प्रांगण में रविवार को अनौपचारिक सह विशेष शिक्षा से जुड़े अनुदेशकों की एक बैठक संघ के मंडल अध्यक्ष हरेन्द्र मिश्र की अध्यक्षता में की गई। जिसमें सर्वोच्च न्यायालय एवं उच्च न्यायालय द्वारा निर्गत आदेश के बावजूद अनुदेशकों का अभी तक समायोजन नहीं किए जाने को लेकर सरकार के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली गई। मंडल अध्यक्ष हरेंद्र मिश्रा ने कहा कि कोर्ट से फैसला आने के बाद निदेशक जन शिक्षा बिहार विनोदानंद झा ने आश्वासन दिया था कि सरकार के एलपीए निष्पादन के बाद इस मामले में उचित कार्रवाई की जाएगी। फैसला आए महीनों हो गया। लेकिन, आज तक इस मामले में उनके द्वारा कोई कार्रवाई नहीं कर अनुदेशकों के उम्मीदों पर पानी फेर दिया गया है। वहीं, अनिल ओझा ने कहा कि नौकरी की आस में कई अनुदेशकों का जीवन बर्बाद हो रहा है। ऐसी स्थिति में अनुदेशक अपने हक के लिए हर कुर्बानी देने को तैयार हैं। अंत में अनौपचारिक संघ के सदस्यों ने सर्वसम्मति से एक प्रस्ताव पारित कर 20 जुलाई से पूर्व अपने आंदोलन की रूपरेखा घोषित करने का निर्णय लिया। बैठक में सुनैना देवी, सरवेन्दर ओझा, रंजीत पांडे, श्रीकान्त दूबे, उषा देवी, नीलम राय, उमा देवी, हरदेव यादव, लक्ष्मण पाण्डेय, सुंदरलाल, र¨वद्र दुबे, संतोष पांडे, सुशील कुमार चौबे, अनिल राय, मनोज कुमार, ओम प्रकाश पांडे, मकरध्वज राय, तेज बहादुर ¨सह, सुशील मिश्रा, वृजबिहारी ¨सह, महेन्द्र ¨सह, वीरेन्द्र प्रसाद, अनिल राय, मनोज शर्मा, रहमान अंसारी, नाबालिग राय, रामनिवास ¨सह, रंजीत ¨सह, वंश नारायण राय, सुदामा प्रसाद, दीनानाथ राम, भगवान प्रसाद, रामानुज पाठक, बदन यादव, शिवजी राय, ओम प्रकाश मिश्र, तेज बहादुर ¨सह, संजय कुमार ¨सह, सुभाष प्रसाद, बृज बिहारी ¨सह सहित कई अन्य अनुदेशक शामिल रहे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021