बक्सर। स्थानीय बाजार स्थित मां काली का वार्षिक पूजनोत्सव सोमवार को संपन्न हुआ। परंपरागत तरीके से हुई इस पूजा में गांव के सभी वर्ग के लोगों ने बढ़-चढ़कर हिस्सेदारी निभाई। अहले सुबह से ही मंदिर को धोकर साफ किया गया। इसके बाद श्रद्धालुओं के आने का सिलसिला शुरु हुआ। जो दोपहर तक जारी रहा। मां काली की वार्षिक पूजा में महिलाओं ने अपने-अपने घरों में पकवान बना उसका प्रसाद चढ़ाया। आचार्य प्रदीप पाण्डेय द्वारा वैदिक मंत्रों के उच्चारण के साथ मां काली की पूजा को परंपरागत ढंग से संपन्न कराया गया। इस मौके पर मां काली का विशेष पूजन तथा हवन किया गया। वार्षिक पूजा को ले एक दिन पहले से ही कंचन नदी तट किनारे स्थित मां काली के प्रांगण में उत्सव का माहौल था। सुबह होते ही महिलाएं एवं पुरुष श्रद्धालु मंदिर पहुंचने लगे। मंदिर को भव्य ढंग से सजाया गया था। वार्षिक पूजनोत्सव मंदिर के पुजारी जवाहिर माली के नेतृत्व में किया गया। पूजा के दौरान पुजारी जवाहिर माली पर मां काली का साया प्रकट होते ही श्रद्धालुओं द्वारा जयकारे लगने शुरू हो गए। पूरा माहौल मां काली के जयघोष से गुंजायमान हो उठा। ज्ञात हो कि प्रत्येक वर्ष ज्येष्ठ माह के पूर्णिमा को कंचन नदी तट स्थित मां काली की वार्षिक पूजा होती है। इस दौरान स्थानीय बाजार के सुरेन्द्र साह, राजेन्द्र भगत, कृष्णा कुमार, विश्वनाथ प्रसाद सहित अन्य लोगों ने बताया कि हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी मां काली की वार्षिक पूजा धूमधाम से की गई। पूजा में ग्रामीण महिलाओं की संख्या अधिक थी। पूजा को लेकर बड़ी संख्या में बाहर रहने वाले लोग भी आते हैं। मां काली की वार्षिक पूजा संपन्न

संस, राजपुर (बक्सर) : थाना क्षेत्र के खरगपुरा गांव में मां काली की वार्षिक पूजा धूमधाम से मनाई गई। तय कार्यक्रम के अनुसार सुबह में ही गांव के सभी महिलाएं और पुरुष इकट्ठा होकर जयकारे लगा रहे थे। महिलाओं द्वारा भक्ति गीत गाकर पूरे माहौल को भक्तिमय बनाए रखा। इसके बाद उबलते दूध एवं चावल का प्रसाद चढ़ाकर मां काली से सुख शांति की प्रार्थना की गई। इस मौके पर पुजारी लपेटु तिवारी, नरेन्द्र तिवारी, अखिलेश तिवारी, दाउजी तिवारी, चंदन तिवारी सहित अन्य ग्रामीणों के सहयोग से पूजा संपन्न कराया गया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021