बक्सर : तमाम सख्ती के बावजूद शराब की बिक्री रोकने में विफल बक्सर पुलिस पर बड़ी कार्रवाई हुई है। मद्य निषेद्य विभाग के पुलिस महानिरीक्षक ने तेज-तर्रार पुलिस अधिकारी नगर थानाध्यक्ष राहुल कुमार को अपने क्षेत्र में शराब की बिक्री रोकने में विफल रहने पर मंगलवार को निलंबित कर दिया। राहुल को इसी साल अपराधग्रस्त नगर थाना की कमान सौंपी गई थी और संगठित अपराधियों पर कार्रवाई कर इन्होंने शहर में काफी हद तक अपराध को काबू में रखा था।  

दरअसल, कार्रवाई का आधार वह शपथ-पत्र बना है जो थाने की कमान संभालने वाले सभी थानाध्यक्षों को भरना पड़ता है। मद्य निषेध अभियान के वास्तविक अनुपालन को लेकर प्रत्येक थानाध्यक्षों द्वारा अवैध शराब बिक्री के संदर्भ में शपथ पत्र जमा कराया गया है, जिसमें उनसे लिखवाया गया है कि उनके इलाके में शराब की बिक्री नहीं हो रही है और आगे भी नहीं होगी। नगर थानाध्यक्ष राहुल के द्वारा 28 सितंबर को दिए गए अपने शपथ पत्र में बताया गया था कि उनके थाना क्षेत्र के किसी भी इलाके में अवैध शराब तस्करी या बिक्री नहीं हो रही है। हालांकि, इस शपथ पत्र के ठीक 11 दिन बाद ही नगर थाना क्षेत्र से 71.48 लीटर अंग्रेजी शराब बरामद की गई। यह बरामदगी नगर थाने से महज कुछ ही दूरी पर स्थित खलासी मोहल्ला से हुई थी। शराब तस्करी के आरोप में पुलिस ने महिला समेत चार तस्करों तथा शराब के नशे में धुत्त दो ग्राहकों समेत कुल छह लोगों को भी गिरफ्तार किया था। बताया जाता है कि महानिदेशक संजय रत्न ने इस मामले को बेहद गंभीरता से लिया था और मामले की पूरी रिपोर्ट मांगी थी। रिपोर्ट की जांच करने के बाद उन्होंने निलंबन का आदेश दिया है। अपने आदेश में उन्होंने बताया है कि शराब की यह खेप बरामद होने के बाद यह स्पष्ट हो गया कि नगर थानाध्यक्ष राहुल कुमार अपने क्षेत्र पर नियंत्रण रखने में विफल हैं तथा उनका इंटेलिजेंस सिस्टम फेल है। इसी आधार पर उनको निलंबित करते हुए लाइन हा•िार कर दिया गया है। नगर थानाध्यक्ष के निलंबन के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है। एसपी उपेन्द्रनाथ वर्मा ने निलंबन की पुष्टि करते हुए कहा कि वरीय अधिकारी के आदेश पर यह कार्रवाई की गई है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस