बक्सर : 10 फरवरी से उत्तर प्रदेश में शुरू होने वाले विधान सभा चुनाव में शांतिपूर्ण मतदान को लेकर यूपी पुलिस की गतिविधियां तेज हो गई है। सोमवार को यूपी पुलिस के साथ बक्सर पुलिस की मैराथन बैठक के दौरान शांतिपूर्ण मतदान के मुद्दों पर विस्तार से चर्चा के साथ दोनों राज्यों की पुलिस ने सीमावर्ती क्षेत्र में सक्रिय अपराधियों की सूची का आदान प्रदान किया। इस दौरान शराब तस्करी रोकने के विषय पर भी विस्तार से चर्चा के साथ तस्करों की नकेल कसने के नए तरीकों पर मंथन किया गया।

यूपी में आगामी 10 फरवरी से होने वाले विधान सभा चुनाव को लेकर प्रशासनिक स्तर पर तैयारियां तेज कर दी गई हैं। इसके तहत सोमवार को यूपी के सीमावर्ती थाना नरहीं में बलिया पुलिस और बक्सर पुलिस की घंटों बैठक चली। बैठक में शांतिपूर्ण तरीके से मतदान के विषयों पर विस्तार से चर्चा के साथ ही असामाजिक तत्वों पर निगाह रखने के अलावा सीमावर्ती क्षेत्र में सक्रिय अपराधियों की सूची का आदान प्रदान किया गया। बक्सर पुलिस द्वारा नरहीं पुलिस को इस बात की जानकारी दी गई कि फिलहाल यूपी के चार संगीन मामलों के अपराधी बक्सर में शरण लिए हैं। इसके अलावा नरही पुलिस ने भी बक्सर के यूपी में शरण लिए अपराधियों की सूची दी गई। मौके पर आपराधिक गतिविधियों पर लगाम लगाने के लिए सीमा सील के साथ ही नदी मार्ग की सघन निगरानी के विषय पर घंटों मंथन के बाद निकले निष्कर्ष पर दोनों पुलिस द्वारा आपसी सहमति जताई गई। इस अभियान में दोनों सीमावर्ती जिलों की पुलिस द्वारा संयुक्त रूप से कार्रवाई किए जाने पर सहमति जताई गई। मौके पर मौजूद बक्सर नगर थानाध्यक्ष दिनेश कुमार मालाकार और औद्योगिक थानाध्यक्ष मुकेश कुमार ने बताया कि बैठक के दौरान यूपी से बिहार में हो रही शराब तस्करी को बंद करने तथा तस्करों की नकेल कसने के नए उपायों पर भी चर्चा की गई। बैठक में यूपी के नरहीं थाना प्रभारी प्रवीण कुमार सिंह के साथ ही नगर थाना के एसआइ कमलनारायण और औद्योगिक थाना के एसआइ नीतीश कुमार आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran