बक्सर : बक्सर की भूमि पर एक साथ 12 ज्योतिर्लिंगों के दर्शन कर भक्त धन्य हुए। उन्हें यह मौका चरित्रवन स्थित श्रीनाथ आश्रम स्थित मंदिर में मिला। जहां इन दिनों श्री अतिरूद्र यज्ञ एवं श्रीचंद्र मौलिश्वर महादेव की प्रतिष्ठा का स्वर्ण जयंती महोत्सव मनाया जा रहा है। कार्यक्रम में दूरदराज से श्रीनाथ संप्रदाय के साधु-संत का आगमन तो हुआ ही है। काफी संख्या में श्रद्धालु भक्त भी पहुंचे हुए हैं। जो कार्यक्रम से अभिभूत तो हो ही रहे हैं। तपस्वी योगियों के दर्शन से भी काफी रोमांचित हैं।

इस दस दिवसीय कार्यक्रम के 9वें दिन गुरुवार को श्रीआदिनाथ पीठाधीश्वर सिद्ध समर्थ गुरू श्री त्रिलोकीनाथ जी महाराज द्वारा भगवान श्रीआदिनाथ का 108 कलशों के पवित्र जल से मस्ताभिषेक किया गया। इससे पूर्व श्री आदिनाथ भगवान को दूध, दही, घी, मधु, शर्करा आदि से वैदिक मंत्रों के साथ स्नान कराया गया। जाहिर हो कि श्रीअतिरूद्र महायज्ञ के 11 यज्ञ कुंडों में प्रतिदिन 101 आचार्य आहुति दे रहे हैं। आहुति देने के लिए बनारस से विद्वानों की टोली आई हुई है। साथ ही सुबह और शाम श्रीचंद्रमौलिश्वर महादेव का प्रतिदिन रूद्राभिषेक किया जा रहा है। वहीं, देर शाम आयोजित कार्यक्रम में कथा मंच से अखिलभारतीय साधु समाज के सचिव हरिनारायणानंद जी ने भक्तों को संबोधित करते हुए उपनिषदों का आधार लेकर सत्कर्म के स्वरूप एवं उसके परिणाम की चर्चा किए। पूरे कार्यक्रम की इस अलौकिक छटा को देखने-सूनने एवं दर्शन के लिए काफी संख्या में भक्तजन जुट रहे हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप