भोजपुर। जिले के अलग-अलग जगहों पर गुरुवार को विद्युत प्रवाहित तार की चपेट में आने से एक युवक समेत दो लोगों की मौत हो गई। इसमें एक ने इलाज के लिए अस्पताल ले जाने के दौरान दम तोड़ दिया। जबकि दूसरे की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। जिसे लेकर कोहराम मच गया। दोनों शवों का पोस्टमार्टम सदर अस्पताल,आरा में कराया गया। इसे लेकर पुलिस ने अलग-अलग यूडी केस दर्ज किया है। हाईटेंशन विद्युत प्रवाहित तार के टूटकर गिरने से हुआ हादसा

पहला हादसा जिले के आयर थाना क्षेत्र के बरनाव गांव में हुआ। बरनाव गांव के बधार में 11 हजार वोल्ट के हाईटेंशन विद्युत प्रवाहित तार के टूटकर गिरने एवं तार की चपेट में आने से एक युवक की मौत हो गई। हादसे को लेकर लोगों के बीच काफी देर तक अफरा-तफरी मची रही। मृतक 36 वर्षीय रमेश कुमार सिंह बरनाव गांव निवासी स्व.बलिराम सिंह का पुत्र था। वह पेशे से किसान था। इधर मृतक के स्वजनों ने बताया कि वह गुरुवार की सुबह आठ बजे अपने गांव के ही दक्षिण बधार में भैंस चराने गया था। अचानक 11 हजार वोल्ट का हाईटेंशन विद्युत प्रवाहित तार टूट कर गिर पड़ा। भैंस चराने के दौरान वह करंट प्रवाहित तार की चपेट में आ गया और वह बुरी तरह झुलस गया। इसके बाद उसे इलाज के लिए जगदीशपुर रेफरल अस्पताल लाया जा रहा था, तभी उसने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। बावजूद इसके परिजन उसे रेफरल अस्पताल ले गए। चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। टूटकर गिरे तार के स्पर्श में आने से अधेड़ की चली गई जान

दूसरा हादसा चांदी थाना क्षेत्र के रामपुर गांव में हुआ। विद्युत प्रवाहित तार की चपेट में आने से एक अधेड़ की मौके पर ही मौत हो गई। जिसके बाद कोहराम मच गया। हादसे की सूचना मिलते ही स्थानीय पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और शव को अपने कब्जे में लेकर उसका पोस्टमार्टम सदर अस्पताल में कराया। मृतक जय कुमार सिंह उर्फ घुटुर सिंह चांदी के रामपुर गांव के निवासी थे। इधर, मृतक के भाई सुरेश सिंह ने बताया कि गुरुवार को जय कुमार सिंह भैंस चराने खेत की ओर जा रहे थे। रास्ते में पहले से बिजली का तार टूट कर गिरा पड़ा था। खेत में जाने के दौरान वह उसी विद्युत प्रवाहित तार की चपेट में आ गए। जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। इस बीच वहां से गुजर रहे स्थानीय ग्रामीणों ने जब उन्हें खेत में मृत पड़ा देखा तो उन्होंने इसकी सूचना स्वजनों को दी।

Edited By: Jagran