भोजपुर। पकड़ी के सतीवाड़ा मोड़ स्थित प्राचीन गोरेया बाबा, सती माई तथा शिव परिवार की प्राचीन मंदिर के जीर्णोद्धार के बाद बुधवार को तीन दिवसीय तीन दिवसीय श्री गोरेया बाबा, सती माई शिव परिवार प्राण- प्रतिष्ठा समारोह का शुभारंभ हुआ। सर्वप्रथम बुधवार को सुबह में जलभरी का कार्यक्रम हुआ। मंदिर के पास से बड़ी संख्या में श्रद्धालु महुली घाट वाहन से पहुंचकर जलभरी कर मौलाबाग स्थित गायत्री मंदिर पहुंचें। गायत्री मंदिर से श्रद्धालुओं का जलभरी यात्रा हाथी-घोड़ा और गाजे-बाजे के साथ निकला। यह मौलाबाग, चर्च मोड़ समेत विभिन्न मार्गों से होते हुए मंदिर के पास पहुंचा। पूरा जलभरी यात्रा मार्ग शंकर भगवान की जय, गोरेया बाबा की जय, सती माई की जय के जयघोष से गूंजता रहा। मंदिर में मंत्रोच्चार के बीच जलाभिषेक किया गया। श्रीभगवान शास्त्री, तारापीठ ने बताया कि 11 अगस्त को अन्नाधिवास, फूलाधिवास व ओढन अधिवास का कार्यक्रम होगा। 12 अगस्त को पूजन के बाद देव मूर्ति नगर भ्रमण के पश्चात प्राण-प्रतिष्ठा किया जायेगा। तदोपरांत प्रसाद वितरण होगा। आयोजन को लेकर आयोध्या से माधव जी अपनी टीम के साथ पहुंचे हैं। श्रद्धालुओं का उत्साह देखते बन रहा है। इस आयोजन से आसपास का वातावरण भक्तिमय हो गया है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस