आरा। देश दुनिया में कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण दहशत है। वहीं सोमवार को बिहिया के भीड़भाड़ वाले जगह जहां लोग सैकड़ो की संख्या में जुटते है वहां सब कुछ सामान्य सा दिखा। अधिकांश लोग उक्त वायरस के खतरे की जानकारी होने के बावजूद बेखौफ होकर अपना काम निपटाते देखे जा रहे हैं। खतरनाक कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे और जानकारी तथा बचाव के उपाय को भांपने के लिए सोमवार को जागरण द्वारा भीड़ भाड़ वाली सरकारी संस्थाओं में चलाए गए अभियान के दौरान कई चौंकाने वाली बात सामने आई। सबसे पहले बात करते हैं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बिहिया कि जहां ओपीडी में गांव गवई से आए मरीजों की लम्बी कतार कोरोना से बेखौफ खड़ी थी। कोरोना के बारे में पूछने पर प्रमिला कुंअर, उपेन्द्र यादव, अखिलेश कुमार, बबीता देवी, ललिता देवी, सिया कुमारी, लक्ष्मी देवी, लक्ष्मीना देवी जैसे अधिकांश मरीजों को कोरोना की जानकारी नहीं थी। वैसे कुछ लोगों ने जानकारी जाहिर की लेकिन बचाव के उपाय की जानकारी के बारे में अनभिज्ञता जाहिर की। मास्क लगाने की बात तो छोड़ ही दीजिए।अंदर ऑन ड्यूटी चिकित्सक मास्क लगाए मरीज देख रहे थे। वही लेबर रूम जहां प्रसूति महिलाओं व उनके परिजनों की भीड़ रहती है का जायजा लेने के दौरान चिकित्सीय कर्मियों के चेहरे पर सुरक्षा के साधारण उपकरण मास्क तक नहीं था। जैसे ही कैमरे का फ्लैस चमका अफरा तफरी मच गई। धड़ाधड़ वही सर्जिकल मास्क बंटने लगे। अस्पताल के कार्यालय में काम निपटा रहे प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ एन के प्रसाद भी बिना मास्क के ही काम कर रहे थे। मास्क की उपलब्धता के बारे में पूछने पर कहा कि जो मास्क है वह सर्जिकल है।

पंजाब नेशनल बैंक की बिहिया शाखा में कोरोना के कारण ऑफिशियली कई सुरक्षात्मक कदम उठाए गए हैं। मास्क लगाए ड्यूटी कर रहे प्रबंधक सक्षम कुमार ने बताया कि बायोमीट्रिक विधि से उपस्थिति दर्ज करने पर रोक लगा दी गई है। वही अंगूठे से आधार कार्ड लिक करने से लेकर इससे होने वाले सारे काम रोक दिया गया है। पासबुक प्रिट करना भी बन्द कर दिया गया है। इसके अलावा उनके स्तर से ग्राहकों को साफ सफाई पर ध्यान देने सहित अन्य सुरक्षात्मक कदम उठाने की सलाह दी जा रही है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस