आरा। भोजपुर जिला के कोईलवर थाना क्षेत्र के गोवर्धन चक गांव में शुक्रवार की अहले सुबह करीब तीन बजे बिजली के शार्ट-सर्किट से अचानक एक झोपड़ीनुमा घर में भीषण आग लग गई। हादसे में एक बालक के साथ तीन मवेशी झुलस कर मर गए। दूसरी ओर मृत बालक के छोटे भाई और नानी ने भागकर अपनी जान बचाई। बाद में हो-हल्ला होने पर पड़ोस के लोग जुटे। तब तक सब कुछ जलकर नष्ट हो चुका था। घटना की सूचना मिलने के बाद शुक्रवार की सुबह करीब छह बजे कोईलवर थाना की पुलिस भी वहां पहुंच गई । मृत 12 वर्षीय बालक संजीत कुमार उर्फ कल्लू गोवर्धन चक गांव निवासी गौतम राम का पुत्र बताया जाता है। वह चौथी कक्षा का छात्र था। हादसे में बच्चे की मौत के बाद घर में कोहराम मच गया। स्वजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। शव का पोस्टमार्टम दोपहर बाद सदर अस्पताल,आरा में कराया गया। हादसे में हजारों रुपये मूल्य की संपत्ति का भी नुकसान हुआ है।

-----

एक हीं झोपड़ी में नानी के साथ सोए थे दोनों सगे भाई

बताया जाता है कि कोईलवर थाना क्षेत्र के गोवर्धन चक गांव निवासी गौतम राम के परिवार के सदस्य रोज की तरह गुरुवार की रात खाना खाकर सो गए थे। गृहस्वामी के दो पुत्र संजीत और सन्नी एक साथ अपनी नानी कुंती देवी के साथ एक ही झोपड़ी में सोए हुए थे। बगल में गाय, उसका बच्चा और एक बकरी भी बंधी थी। मां-बाप दूसरी झोपड़ी में थे। इस बीच सुबह तीन बजे अचानक बिजली के शार्ट सर्किट से झोपड़ीनुमा घर में आग लग गई।

-----------

आग लगने से गिरे मलवे में दब गया संजीत

जानकारी के अनुसार झोपड़ीनुमा घर के ऊपरी भाग में अचानक पहले आग की लपटे उठी। इस दौरान गृहस्वामी का छोटा बेटा 10 वर्षीय सन्नी कुमार अपनी नानी के साथ भाग निकला। जबकि, बड़ा पुत्र संजीत भागने का प्रयास ही कर रहा था कि उसके ऊपर छप्पर का मलवा गिर पड़ा। इससे वो बाहर नहीं निकल पाया और झुलस कर उसकी मौत हो गई। इधर, स्वजनों को लगा कि वह बचकर निकल गया है लेकिन, जब वह नहीं मिला तो घर अंदर जाने पर उसका शव मिला। हादसे में मौत के बाद स्वजनों पर दुखों का पहाड़ टूटा पड़ा है। मौके पर पहुंचे एसआइ हरेराम शर्मा ने बताया कि शुरुआती जांच में बिजली के शार्ट सर्किट से आग लगने की बात सामने आ रही है। -------

बड़े बेटे की मौत के बाद मां का रो-रोकर बुरा हाल

मूल रूप से शाहपुर के चमरपुर गांव निवासी गौतम राम करीब डेढ़ दशक से अपने ससुराल कोईलवर थाना क्षेत्र के मथुरापुर पंचायत के गोवर्धन चक गांव में रहते चला आ रहा है। गौतम राम को कुल दो पुत्र थे। जिसमें संजीत उर्फ कल्लू बड़ा पुत्र था। हादसे में बड़े पुत्र की मौत के बाद मां शोभा देवी और पिता का रो-रोकर बुरा हाल है। आसपास के लोग ढांढस बंधाने में लगे हुए हैं। छोटा दस वर्षीय पुत्र सन्नी दंपती का सहारा बच गया है। पिता के अनुसार उसके दोनों बेटे नानी के साथ सोए थे। घर में आग लगने के बाद नानी ने दोनों बच्चों को भागने के लिए उठाया था। लेकिन, बड़े भाई की मौत हो गई।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस