आरा। जिस भाई की कलाई पर हर रक्षा बंधन के मौके पर नेहा रक्षा सूत्र बांधा करती थी, वह बहन की रक्षा करना तो दूर, खुदकुशी करने के क्रम में अपनी चहेती बहन की ही मौत का कारण बन गया। दानापुर रेल मंडल के बिहिया स्टेशन से पूरब रामानंद तिवारी हाल्ट के पास ट्रेन से कटकर एक हीं परिवार के चचेरे भाई-बहन की मौत हो गई। मृतक सोनु गोंड बिहिया थाना क्षेत्र के मीराचक गांव निवासी जमुना गोंड का पुत्र है। जबकि उसकी चचेरी बहन नेहा कुमारी उसके चाचा कमलेश गोंड की पुत्री बताई जाती है। घटना के बारे में मिली जानकारी के मुताबिक, घटना से कुछ दिन पहले करंट लगने के बाद सोनु विक्षिप्त सा हो गया था। बुधवार की रात में जब वह अचानक घर से यह कहकर निकला कि वह खुदकुशी करने जा रहा है, तो उसे बचाने के लिए बहन नेहा भी उसके पीछे लग गई। परिजनों ने बताया कि नेहा उसे नहीं बचा सकी और खुदकुशी करने गए भाई के साथ ट्रेन से कटकर बहन भी मौत की भेंट चढ़ गई। गुरुवार की सुबह में घटना की जानकारी मिलते ही जीआरपी ने अप रेल ट्रैक से दोनों का क्षत विक्षत शव बरामद किया था। दोनों की मौत ट्रेन से कट कर हो गई थी। हादसा कब हुआ इसकी जानकारी नही मिली है। शव रात से ही पड़ा था, जिसकी पहचान शाम तक नही हो सकी थी। गुरुवार की सुबह ट्रैक की देखभाल करने वाले की मैन की सूचना पर जीआरपी पहुंची और शव को कब्जे में लेकर अंत्यपरीक्षण हेतु सदर अस्पताल आरा भेजा। जीआरपी ने बताया कि अप लाइन में पोल संख्या 611/27 के समीप से दोनों शव बरामद किया गया है। मृतकों में शामिल युवती की उम्र 22 तथा युवक की उम्र 25 वर्ष के लगभग है। पुलिस के अनुसार प्रथम ²ष्टया मामला प्रेम प्रसंग का बताया जा रहा था। पर, शवों की शिनाख्त होने तथा परिजनों से मिली जानकारी के बाद मामला कुछ और ही निकला। इस मामले में पुलिस ने यूडी केश दर्ज किया है। इस संबंध में जीआरपी थानाध्यक्ष शाहनवाज खान ने बताया कि बिहिया स्टेशन के समीप ट्रेन से कटकर एक युवक और एक युवती की मौत हो गई है। दोनों आपस में चचेरे भाई-बहन बताए जाते हैं। इस मामले में यूडी केस दर्ज किया गया है।

--------------

तीन माह पहले भी ट्रेन से कटकर युवक-युवती ने की थी खुदकुशी

बिहिया: पूर्व में भी गत वर्ष 16 अक्टूबर की शाम एक युवक और एक युवती ने प्रेम प्रसंग में बिहिया रेलवे स्टेशन से पूरब महथिन माई मंदिर के समीप 15126 अप जनशताब्दी एक्सप्रेस ट्रेन के आगे कूद कर जान दे दी थी। ट्रेन से टकराने के बाद जहां दोनों के हीं शव बुरी तरह से क्षत-विक्षत हो गये थे, वहीं शव का मलबा ट्रेन के इंजन में फंस जाने से इंजन फेल हो गया था। उक्त घटना पटना से चलकर मंडुआडीह तक जाने वाली 15126 अप जनशताब्दी एक्सप्रेस से घटित हुई। उक्त ट्रेन महथिन मंदिर के समीप से जैसे हीं गुजर रही थी, इसी दौरान रेल लाईन के किनारे चल रहे युवक-युवती अचानक रेल ट्रैक पर आकर खड़े हो गए थे। बाद में शव के पास मिले टूटे हुए मोबाईल के सिम से शव की पहचान हो सकी थी।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021