आरा। देश भर में कोरोना के भय की चर्चा के बावजूद भोजपुर में अधिकांश लोग इसके आतंक से बेफिक्र नजर आ रहे है। फिर भी अस्पताल, स्टेशन व कोर्ट से लेकर शहर के सार्वजनिक स्थलों पर कोरोना पर चर्चा जोरों पर है। कुछ लोग जहां इसे मानव जीवन के लिए सबसे बड़ा खतरा बता रहे हैं, तो कुछ इसे लेकर बहुत गंभीर नहीं दिख रहे हैं। हालांकि सरकार द्वारा इस मामले में जारी किए गए निर्देशों के आलोक में अधिकांश लोग कैमरे के सामने कुछ भी बताने से परहेज कर रहे हैं। सोमवार को आरा सिविल कोर्ट में मुकदमा लड़ने वाले लोगों की जुटी भीड़ कोरोना के आतंक से पूरी तरह बेफिक्र नजर आ रही थी। दैनिक जागरण की टीम जब इस मामले की पड़ताल करने पूर्वाह्न 11:55 बजे आरा सिविल कोर्ट पहुंची तो इस तरह की कई तश्वीरे कैमरे में कैद की। बरामदे, गलियारो से लेकर सीढि़यों पर चढ़ने तक में भीड़ नजर आ रही थी। यह अलग बात है कि कुछ लोग इस भीड़ में मास्क लगाए भी नजर आ रहे थे। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सोमवार को कोरोना से बचाव पर आधारित एक जागरूकता कार्यक्रम भी आयोजित किया गया है, जिसमें शहर के चर्चित चिकित्सक डॉ. केएन सिन्हा कोरोना से बचाव की जानकारी देंगे।

-----------

फोटो फाइल

16 आरा 12

-----------

सदर अस्पताल में कोरोना प्रभावितों के लिए आईसीयू में बना छह बेड का स्पेशल वार्ड

आरा: दोपहर 1:35 बजे दैनिक जागरण की टीम जब सदर अस्पताल पहुंची तो पहले से यहां बने कोरोना पेशेंट वार्ड में तैनात कर्मचारी उसमें ताला जड़ रहे थे। पूछने पर कर्मचारियों ने बताया कि अभी यहां कोई कोरोना का संभावित मरीज भी जांच कराने नहीं आया है। कर्मचारियों ने बताया कि इस आईसोलेटेड वार्ड में फिलहाल 10 बेड हैं। अस्पताल के आईसीयू में कोरोना पेशेंटों के छह बेड का एक स्पेशल वार्ड भी बनाया गया है। जागरण की टीम जब स्पेशल वार्ड पहुंची तो वहां दो महिला स्वास्थ्यकर्मी मौजूद थी। मरीजों की जांच या इलाज के बारे में पूछने पर उनलोगों ने कुछ भी बताने से इंकार कर दिया। हालांकि इस वार्ड में आक्सीजन के सिलिडरों के अलावा कोई विशेष उपकरण नजर नहीं आ रहा था।

----------

फोटो फाइल

16 आरा 11

-----------

कोरोना के आतंक से सरकारी बस स्टैण्ड में पसरा सन्नाटा

आरा: दोपहर 2:55 बजे दैनिक जागरण की टीम जब आरा रेलवे स्टेशन के समीप स्थित सरकारी बस स्टैण्ड पहुंची तो पूरे परिसर में इक्के दुक्के यात्रियों को छोड़ पूरी तरह सन्नाटा पसरा हुआ था। स्टैण्ड में बने बुकिग काउंटरों पर एक भी यात्री मौजूद नहीं था। आलम यह था कि कुछ देर बाद एक दो यात्री जब वहां टिकट कटाने पहुंचे तो किसी भी काउंटर पर कर्मी के नहीं रहने के कारण उन्हें टिकट तक नहीं मिल पाया। पूछने पर वहां मौजूद एक ठेले वाले ने बताया कि कोरोना के आतंक से बस पकड़ने के लिए काफी कम लोग आ रहे हैं।

-----------

फोटो फाइल

16 आरा 9, 15

----------

रेलवे स्टेशन की सफाई और छिड़काव में जुटे 60 कर्मचारी

आरा: कोरोना के आतंक से भयभीत रेल यात्रा करने वाले कुछ यात्री जहां मास्क का उपयोग करना जरूरी समझ रहे है, वहीं आरा रेलवे स्टेशन पर स्थित सभी प्लेटफार्मों समेत पूरे परिसर की साफ सफाई से लेकर छिड़काव के कार्य में संविदा पर आधारित कुल 60 कर्मचारी तैनात किए गए हैं। दोपहर 2:45 बजे दैनिक जागरण की टीम जब स्टेशन पर चल रहे काम काज का जायजा लेने पहुंची तो वहां साफ-सफाई का काम युद्ध स्तर पर जारी था। ड्यूटी पर तैनात कर्मचारी ने बताया कि दोपहर दो बजे से रात 10 बजे तक उसकी ड्यूटी है। उसकी टीम में दर्जन भर सफाई कर्मी शामिल है, जो स्टेशन परिसर में गंदगी देखते ही तुरत उसकी सफाई करेंगे।

--------

कर्मचारियों के बीच बांटे गए 50 मास्क

आरा: आरा रेलवे स्टेशन पर कार्यरत सफाई कर्मियों समेत अन्य कर्मचारियों के बीच सोमवार को कुल 50 मास्क वितरित किए गए। इस आशय की जानकारी देते हुए आरा रेलवे स्टेशन पर तैनात मुख्य स्वास्थ्य निरीक्षक गिरीश कुमार सिंह ने बताया कि अन्य कर्मचारियों के बीच वितरित करने हेतु अतिरिक्त मास्क भी मंगाया गया है।

---------

फोटो फाइल

16 आरा 10

-----------

स्टेशन परिसर में गंदगी फैलाने वालों पर होगी कड़ी कार्रवाई: मुख्य स्वास्थ्य निरीक्षक

आरा: दानापुर रेलमंडल के आरा रेलवे स्टेशन पर तैनात मुख्य स्वास्थ्य निरीक्षक गिरीश कुमार सिंह ने बताया कि कोरोना के बढ़ते आतंक को देखते हुए ट्रेन से लेकर स्टेशन तक साफ सफाई का व्यापक इंतजाम किया जा रहा है। ऐसे में गंदगी फैलाने वालों पर कड़ी नजर रखी जाएगी। उन्होंने बताया कि अनाधिकृत स्थल पर शौच व पेशाब करने तथा किसी तरह से गंदगी फैलाने पर 200 से 500 रुपये तक का जुर्माना किया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस