आरा। भोजपुर जिले के नारायणपुर थाना क्षेत्र के नारायणपुर बाजार पर एक रोज पहले घटित अंडा दुकानदार सह पूर्व वार्ड सदस्य अनुज पासवान की हत्या को लेकर रविवार की सुबह दूसरे दिन भी आक्रोशित लोग सड़क पर उतर गए। नारायणपुर बाजार के समीप आरा -अरवल मुख्य मार्ग को जाम कर दिया। सड़क जाम कर रहे ग्राम रक्षा दल के सदस्य और ग्रामीण सभी अपराधियों को गिरफ्तार करने और मुआवजा की मांग कर रहे थे। इस दौरान नारायणपुर बाजार की दुकानें भी बंद रही। बाद में थानाध्यक्ष निकुंज भूषण द्वारा गिरफ्तारी होने और मुआवजा दिए जाने का आश्वासन दिए जाने के बाद रोड जाम समाप्त हुआ।दूसरी ओर पुलिस के अनुसार हत्या के इस मामले में मुख्य आरोपी इन्द्रमणी सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है। पकड़ा गया मुख्य आरोपी इन्द्रमणी नारायणपुर निवासी पूर्व पैक्स अध्यक्ष मिथलेश सिंह उर्फ बीडीओ सिंह का पुत्र है। मालूम हो कि शनिवार की देर शाम अंडा दुकानदार अनुज पासवान बाजार से घर लौट रहा था कि गोली मारकर उसकी हत्या कर दी गई थी। मृतक ग्राम रक्षा दल का सदस्य भी था। हत्या को लेकर मृतक की पत्नी किरण देवी ने केस दर्ज कराया है। आपको बताते चलें कि नारायणपुर निवासी शिव कुमार पासवान का पुत्र अनुज पासवान नारायणपुर बाजार पर ही अंडा का दुकान चलाया करता था। शनिवार की देर शाम दुकान बंद कर अनुज अपने घर लौट रहा था तभी रास्ते में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। जिसके बाद हत्या से आक्रोशित भाकपा-माले नेताओं और कार्यकर्ताओं ने शव के साथ आरा -अरवल मुख्य मार्ग को जाम कर दिया था। थाना में भी हंगामा करने का प्रयास किया गया था । बाद में पुलिस द्वारा सख्ती दिखाए जाने के बाद गुस्साई भीड़ ने पथराव भी कर दिया था। जिसमें पुलिस कर्मियों को चोटें भी आई थी। बाद में पीरो डीएसपी अशोक कुमार आजाद के मौके पर पहुंचने और तत्वरित कार्रवाई का आश्वासन दिए जाने के बाद शव उठ सका था । इधर, रविवार की सुबह ग्रामरक्षा दल की सचिव पुनम कुमारी के नेतृत्व में सुबह नौ बजे से रोड जाम कर दिया गया। जिससे आरा-अरवल मार्ग पर परिचालन अवरुद्ध हो गया। सुबह ग्यारह बजे के बाद सड़क जाम हटा। इधर, व्यवसायियों ने अपने स्वेच्छा से दुकानों को बंद रखा।

----------

रात में बारह बजे के बाद उठा था शव

अंडा दुकानदार अनुज पासवान की हत्या को लेकर शनिवार की रात सड़क जाम के दौरान पीरो डीएसपी अशोक कुमार आजाद रात करीब 12 बजे पहुंचे और चार लाख 12 हजार के चेक दिए जाने के बाद सड़क जाम हटा । कुल मिलाकर 10 लाख रुपये, पांच डिसमिल जमीन,इंदिरा आवास,एवं अपराधियों को तत्काल गिरफ्तार कर स्पीडी ट्रायल के तहत सजा दिलाए जाने पर वार्ता हुई । हत्या के बाद सैकड़ों जनता और माले कार्यकर्ता जुट कर आवागमन अवरूद्ध कर दिए थे। जिसका नेतृत्त्व भाकपा माले केंद्रीय कमेटी सदस्य मनोज मं•िाल ,अगिआंव प्रखंड सचिव रघुवर पासवान,आइसा नेता उज्ज्वल भारती,सहार प्रखण्ड सचिव उपेन्द्र भारती,दसई राम ,चंदेश्वर मास्टर,युवा नेता धर्मेंद्र राम,वीरेंद्र पासवान, सरपंच-बसन्त दास, मुखिया भूपेंद्र यादव ,पवना पंचायत समिति सदस्य विष्णु मोहन ,युवा नेता नवीन कुमार ,सखिचन्द राम और अगहनु राम कर रहे थे। एसपी को बुलाने की मांग पर अड़े थे।

-------

दो नामजद समेत चार के विरुद्ध एफआईआर

इधर, मृतक अंडा दुकानदार अनुज पासवान की हत्या को लेकर मृतक की पत्नी किरण देवी ने संबंधित थाना में केस दर्ज कराया है। जिसमें नारायणपुर गांव निवासी पूर्व पैक्स अध्यक्ष मिथलेश सिंह उर्फ बीडीओ सिंह के पुत्र इन्द्रमणी सिंह तथा रोहित सिंह के अलावा दो अज्ञात को आरोपी बनाया गया है। हत्या के बाद देर रात में ही पुलिस ने छापेमारी कर मुख्य आरोपित इन्द्रमणी सिंह को गिरफ्तार कर लिया। दूसरी ओर दूसरे नामजद आरोपी की तलाश जारी है। -----

बॉक्स

----

अंडा दुकान पर चिकेन नहीं भूंजे जाने को लेकर हुआ था विवाद

घटना के मूल में चार रोज पहले अंडा दुकान पर जबरन चिकेन भूंजने को लेकर उपजे विवाद की बात सामने आ रही है। भापका-माले नेता मनोज मंजिल के अनुसार घटना का कारण सिर्फ रंगदारी है। चार दिन पहले कुछ नामजद अपराधी अनुज के अंडा दुकान पर आए थे और अंडा दुकान पर मुर्गा भूंजने के लिए बोले थे। उस समय दुकान पर मौजूद उसके छोटे बच्चे ने कहा था कि उसे मुर्गा बनाने नहीं आता है । इसके बाद वे लोग पिस्टल से डरा धमका कर एक पेटी अंडा उठा ले लिए थे। मृतक के पिता आरोपियों के पिता से मिले थे और सारी घटना के बारे में बताए थे। इसके बाद उसके पिता अंडा के डब्बा लाकर दे दिए थे। मृतक के पिता ने समझा बुझा कर मृतक के पिता ने बोले कि हमलोग एक ही गांव रहने वाले है। बात को समाप्त कर दिए थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस