भोजपुर, जेएनएन। घर और समाज ने जब प्यार पर पहरा लगा दिया तो प्रेमी युगल ने फैसला किया कि जब साथ जी नहीं सकते तो साथ मर तो सकते हैं। ये फैसला कर दोनों ने भरी आंखों से पहले मंदिर में एक-दूसरे का हाथ थामकर पूजा-अर्चना की। थोड़ी देर रेलवे लाइन पर खड़े होकर रोते रहे और फिर तेज गति से आ रही जन शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेन के सामने एक दूसरे का हाथ थामकर कूद गए।

दोनों के शव टुकड़ों में बिखर गए और दूसरी ओर शव का मलबा ट्रेन में फंस जाने से इंजन फेल हो गया। जिसके चलते ट्रेन करीब डेढ़ घंटे तक रूकी रही। इस दौरान अप लाइन पर ट्रेनों का परिचालन प्रभावित रहा। मौके पर मौजूद जीआरपी पोस्ट अफसरों ने बताया कि शव के टुकड़ों से शव की पहचान करना संभव नहीं हैं।

फिर टुकड़ों में बंटे शव को इकट्ठा किया गया। घटनास्थल से एक टूटा हुआ मोबाईल बरामद हुआ, जिसमें एयरटेल कंपनी का सिम लगा हुआ था। उक्त सिम के आधार पर शव की पहचान करने का प्रयास किया गया तो पता चला कि दोनों भोजपुर के बिहियां के रहनेवाले थे।

रेल थानाध्यक्ष शहनवाज खां के अनुसार ,दोनों मृतकों का शव बिहियां में ही है। दोनों शवों को आरा लाया गया है जहां पंचनामा बनाकर सदर अस्पताल, आरा में शव का पोस्टमार्टम कराया गया है। 

जानकारी के मुताबिक, बुधवार की शाम पटना से चलकर मंडुआडीह, वाराणसी तक जाने वाली 15126 अप ट्रेन महथिन मंदिर से जैसे हीं गुजर रही थी कि इसी दौरान रेल लाइन के किनारे खड़े युवक-युवती ने हाथ पकड़कर छलांग लगा दी। जिसके बाद तेज गति से गुजर रही ट्रेन की चपेट में आने से दोनों की दर्दनाक मौत हो गई। शव के कई टुकड़े होकर दूर-दूर तक बिखर गए।

जिससे शव की पहचान करना भी संभव नहीं रहा। शव का मलवा ट्रेन में फंसने के बाद इंजन में खराबी आ गई। जिससे ट्रेन किसी तरह बिहिया स्टेशन पर आकर खड़ी हो गई। ट्रेन के चालक की सूचना पर स्टेशन पर तैनात जीआरपी पोस्ट के जवान मौके पर पहुंचे।

दूसरी, ओर स्टेशन प्रबंधक अखिलेश कुमार ने बताया कि जनशताब्दी एक्सप्रेस शाम 6.21 में बिहिया आकर खड़ी हुई थी। जिसका इंजन फेल था। बताया जा रहा कि रघुनाथपुर स्टेशन पर खड़ी मालगाड़ी का इंजन बिहिया लाकर ट्रेन को रवाना किया गया। इंजन फेल होने के बाद ट्रेन पर सवार यात्रियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा।

पहले मंदिर में की पूजा-अर्चना, फिर लगा दी छलांग 

दूसरी ओर अगर, प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो  दोनों युवक- युवती ने पहले शाम में बिहिया स्थित महथिन माई मंदिर में पूजा-अर्चना की। इसके बाद दोनों मंदिर के ठीक सामने रेलवे ट्रैक पर आ गए। इसके बाद  जनशताब्दी एक्सप्रेस के आगे कूद गए। जिससे दोनों के चिथड़े उड़ गए। बाद में मौके पर भीड़ जमा हो गई। सूचना मिलने पर पहुंची रेल पुलिस ने रेलवे ट्रैक पर बिखरे पड़े शव को उठाकर रेलवे स्टेशन लाया गया। 

मोबाइल के सिम नंबर से पहचान में जुटी पुलिस 

बिहिया रेलवे स्टेशन से पूरब महथिन मंदिर के समीप ट्रेन से कटकर मरे युवक एवं युवती के स्थानीय होने की संभावना जताई जा रही है। क्योंकि, हादसे के बाद ट्रैक के पास लगी भीड़ में कुछ लोग आकर विलाप भी कर रहे थे। बाद में कही चले गए। हालांकि, आरा रेल थाना की पुलिस मृतकों के पास से बरामद मोबाइल एवं सिम के जरिए शिनाख्त का प्रयास किया जा रहा है।

 रेल पुलिस के अनुसार जो मोबाईल बरामद किया गया है वह टूटा हुआ है। उसमें एयरटेल कंपनी का सिम लगा हुआ है। सिम को दूसरे सेट में डालकर सेब नंबरों के जरिए पहचान करने की कोशिश की जा रही है। 

 

Posted By: Kajal Kumari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप