आरा। गुरुवार को प्रखंड मुख्यालय स्थित बीडीओ कार्यालय एकाएक युद्ध के मैदान में तब्दील हो गया। जब बीडीओ से सवाल जवाब करते करते कुछ पंचायत समिति सदस्य आपस में हीं भीड़ गए। कुर्सी तनी तथा गाली गलौज का माहौल बना। बीडीओ को भी सदस्यों ने खोरी खटी सुनाई। प्रमुख और उपप्रमुख भी लपेटे में आए गए। देर तक आरोप प्रत्यारोप का दौर चला। योजनाओं में गड़बड़ी और सदस्यों के बीच राशि आवंटन में एकरूपता नहीं होने की बात सामने आई। महिला सदस्यों ने मोर्चा खोल दिया। बीडीओ के समक्ष तीखी वार्तालाप होने लगी। बीडीओ धर्मेंद्र सिंह कभी सदस्यों को समझाते दिखे तो कभी अपनी बात रखते। सदस्य मानने का नाम नहीं ले रहे थे। योजनाओं के कार्यान्वयन की जानकारी नहीं देने से बी डी ओ और प्रमुख आमने-सामने आ गए। उपप्रमुख भी प्रमुख की तरफदारी करते दिखे। मामला अभी गर्म ही था कि पूर्व उपप्रमुख और वर्तमान उप प्रमुख आपस में भिड़ गए और मामला तल्ख हो गया। मामला बिगड़ते देख बीडीओ अपने चैम्बर से चले गए। सदस्यों के आपसी बीच बचाव से मामला सलटा। सदस्य बीडीओ पर पंचायत समिति के फंड का दुरूपयोग करने का आरोप लगाते देखे गए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस