भोजपुर। पटना हाईकोर्ट के आदेश के अनुपालन के आलोक में फर्जी डायग्नोसिस सेंटर व चिकित्सकों के खिलाफ प्रशासन द्वारा चलाए जा रहे अभियान के कारण पीरो अनुमंडल मुख्यालय सहित आसपास के कस्बों में अवैध रूप से क्लीनिक चलाने वाले झोला छाप डाक्टरों में हड़कंप मचा हुआ है। उक्त अभियान के तहत गठित जांच टीमें मंगलवार को भी दौरे पर थी, लेकिन शहर के ज्यादातर अवैध क्लीनिकों के शटर बंद पाए गए। स्थानीय लोगों ने बताया कि पकडे़ जाने के डर से अधिकांश फर्जी चिकित्सक भूमिगत हो गए हैं। बता दें कि पटना हाईकोर्ट के आदेश के अनुपालन हेतु जिलाधिकारी भोजपुर द्वारा अवैध डायग्नोसिस सेंटर की जांच को अलग-अलग कई टीमें गठित की गई है। जांच टीमों द्वारा तीन दिन पहले चलाए गये छापेमारी अभियान में दो फर्जी चिकित्सकों को जेल भेजा जा चुका है बावजूद इसके यहां सैकड़ों की संख्या में फर्जी चिकित्सक चोरी छुपे अभी भी अपना धंधा चला रहे हैं ऐसे चिकित्सक पकड़ में नहीं आ पाए हैं। हालांकि ऐसे चिकित्सकों में हड़कंप मचा है।

Posted By: Jagran