आरा। भोजपुर पुलिस की फाइलों में करीब सात सालों से अगवा एक युवक को अंतत सकुशल बरामद कर लिया गया। किशोरावस्था में गायब हुआ था और युवावस्था में स्वयं सकुशल अपने अपने घर लौट आया। जिसके बाद घर में खुशी का माहौल छा गया। पुलिस ने भी युवक की बरामदगी से राहत की सांस ली है। उसकी सकुशल बरामदगी से अपहरण के पुराने मामले का भी पटाक्षेप हो गया है। पुलिस बरामद युवक को कोर्ट में प्रस्तुत कर बयान दर्ज कराएगी। विदित हो कि 13 जुलाई 2013 को शाहपुर थाना क्षेत्र के डुमरिया गांव निवासी हरिनारायण सिंह का का पुत्र रिंटू कुमार सिंह अचानक रहस्यमय ढंग से गायब हो गया था। परिजनों द्वारा काफी खोजबीन की गई थी। लेकिन, बेटे के नहीं मिलने पर पिता ने स्थानीय थाना में रिपोर्ट दर्ज कराया था। लेकिन, पुलिस द्वारा पांच नवंबर 2014 को इस मामले मे अज्ञात के विरुद्ध अपहरण का मामला दर्ज किया गया था। इधर, करीब सात वर्ष बाद अचानक बेटे के वापस घर लौटने के बाद पिता हरि नारायण सिंह ने उसे बुधवार को शाहपुर थाना में लाकर थानेदार को इसकी सूचना दी। थानाध्यक्ष अविनाश कुमार के अनुसार रिंटू कुमार सिंह से पूछताछ के दौरान बताया कि वह घर से निकला था और ट्रेन पकड़ कर छत्तीसगढ़ राज्य के रायपुर शहर चला गया था। वहां के एक गैरेज में काम करने लगा था। इस बीच उसे घर की याद तो आती थी। लेकिन, वह समझ नहीं पाता था कि उसे जाना कहां है। किसी तरह जब उसे अपने घर का पता चला तो वह अपने घर वापस चला आया। एएसआई मोहम्मद शमीम अहमद द्वारा उसे न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत कर युवक का 164 के तहत बयान दर्ज कराया जा रहा है। बयान दर्ज कराने के बाद रिंटू को उसके परिजनों के हवाले कर दिया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस