आरा। भोजपुर एवं पटना के प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों की संयुक्त टीम ने रविवार को सुरौंधा टापू सोन नदी में छापेमारी कर अवैध बालू खनन करते 32 मजदूरों को गिरफ्तार कर लिया। साथ ही अवैध खनन में लगे पोकलेन मशीन को भी जब्त किया गया। स्थल से गिरफ्तार सभी मजदूरों एवं जब्त पोकलेन मशीन के विरुद्ध कोईलवर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई। गिरफ्तार मजदूरों को सोमवार को जेल भेजा जाएगा। छापेमारी का नेतृत्व सदर अनुमंडल पदाधिकारी वैभव श्रीवास्तव और पुलिस उपाधीक्षक पंकज रावत ने किया। इस छापेमारी में कोईलवर थाना एवं बिहटा थाना की पुलिस पदाधिकारियों के अलावा अंचलाधिकारी कोईलवर, पटना एवं भोजपुर के खनन विभाग से जुड़े पदाधिकारी शामिल थे। भोजपुर एवं पटना के अधिकारियों की संयुक्त कार्रवाई में सोन नदी से अवैध बालू खनन में संलिप्त बालू माफियाओं एवं मजदूरों के बीच हड़कंप मच गया है। दोनों जिले के अधिकारियों की संयुक्त कार्रवाई बालू के कई घाटों पर पूरे दिन चलती रही। हालांकि अन्य घाटों पर टीम को कुछ भी हासिल नहीं हुआ। कोईलवर में छापेमारी की सूचना के बाद सभी मजदूर, परिवहन एवं खनन में लगे वाहन एवं बालू माफिया कार्य स्थल छोड़कर भाग खड़े हुए। बता दें कि भोजपुर में बालू घाटों के ठेकेदार ब्राडसन कंपनी के द्वारा ठेका को सरेंडर करने के बाद राज्य सरकार के आदेश पर जिले के सभी बालू घाटों को सील करते हुए खनन एवं परिवहन को प्रतिबंधित कर दिया गया है। बावजूद बालू माफियाओं के द्वारा सोन नदी के विभिन्न बालू घाटों पर बालू का खनन, भंडारण एवं परिवहन बदस्तूर जारी है। जिलाधिकारी रोशन कुशवाहा और पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार दुबे के आदेश पर जिले में सदर अनुमंडल पदाधिकारी एवं सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी के अलावा खनन विभाग के सहायक खनन निदेशक समेत अन्य पदाधिकारियों के द्वारा प्रतिदिन अभियान चलाकर वाहनों की धर-पकड़ शुरू कर दी गई है। जिले में कोई ऐसा दिन नहीं है, जिसमें अवैध बालू लदे ट्रक एवं ट्रैक्टर समेत लोगों की गिरफ्तारी नहीं हो रही है। बावजूद इसके अवैध बालू खनन में संलिप्त बालू माफिया अवैध बालू खनन एवं परिवहन से बाज नहीं आ रहा है। छापेमारी अभियान में भोजपुर के सहायक खनन निदेशक प्रमोद कुमार, मोबाइल दारोगा हरिशंकर सिंह, पटना जिले के सहायक खनन निदेशक राजेश कुमार कुशवाहा, खान निरीक्षक अंजय कुमार समेत कई मौजूद थे। पकड़े गए मजदूर भोजपुर, पटना, सारण आदि जिलों के बताए जा रहे हैं।

----

सोन नदी स्थित सुरौंधा टापू पर हुई छापेमारी:

भोजपुर और पटना के प्रशासनिक एवं पुलिस पदाधिकारी के साथ खनन विभाग के पदाधिकारियों की संयुक्त कार्रवाई रविवार को कोईलवर थाना क्षेत्र के सोन नदी स्थित सुरौंधा टापू पर की गई।छापामारी में कार्यस्थल से अवैध खनन में लगे मजदूरों की गिरफ्तारी के साथ पोकलेन मशीन को जब्त किया गया है। बता दें कि भोजपुर जिला प्रशासन को गुप्त सूचना मिली थी कि सोन नदी में स्थित सुरौंधा टापू पर अवैध बालू का खनन एवं परिवहन बदस्तूर जारी है। सूचना के बाद जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक के निर्देश के पर भोजपुर एवं पटना के अधिकारियों की संयुक्त टीम ने छापेमारी की।

----

नाव पर सवार होकर सुरौंधा टापू पर पहुंचे दोनों जिले के अधिकारी व सशस्त्र बल

सोन नदी के बीच में स्थित सुरौंधा टापू पर दोनों जिले के अधिकारियों एवं पुलिस पदाधिकारी समेत सशस्त्र बल के जवान नाव पर सवार होकर पहुंचे थे। इस दौरान नाव के द्वारा चारों तरफ से पहले घेराबंदी की गई। उसके बाद मजदूरों को नहीं भागने के लिए सदर अनुमंडल पदाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने हैंड माइक से सूचना दी। घेराबंदी के बाद पुलिस बल के जवान चारों तरफ से घेर कर सभी मजदूरों को गिरफ्तार कर लिया और कार्यस्थल पर लगे पोकलेन मशीन को जब्त किया गया। गिरफ्तार सभी मजदूरों और जब्त पोकलेन मशीन वहां से निकाल कर कोईलवर थाने के हवाले कर दिया।

Edited By: Jagran