संवाद सूत्र, चंद्रमंडी (जमुई)। पति और तीन बच्चों को छोड़कर एक महिला अपने प्रेमी के साथ फरार हो गई। यह मामला चकाई थाना क्षेत्र अंतर्गत बिशनपुर गांव की है। महिला की एक बेटी आग से जल जाने के कारण देवघर सदर अस्पताल में जिंदगी और मौत से जंग लड़ रही है, इसके बावजूद महिला अपने बेटी का इलाज कराने के बजाय बेटी को पति के भरोसे छोड़कर अपने प्रेमी के साथ फरार हो गई। पति ने चकाई थाना में आवेदन देकर अपनी पत्नी को बिशनपुर के ही गुलटेन साह पर बहला-फुसलाकर भगा ले जाने को लेकर चकाई थाना में आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई है।

चकाई पुलिस ने मामले में केस दर्ज कर लिया है और महिला की बरामदगी के लिए छापेमारी कर रही है। महिला ने पति ने बताया कि वह अपनी बेटी का इलाज लगभग डेढ़ महीना से देवघर सदर अस्पताल में करा रहे हैं। इलाज के दौरान पति-पत्नी साथ में रहकर बेटी की देखभाल कर रहे थे। बीते 16 मई को 11:00 बजे दिन को उनकी पत्नी जरूरी काम से बिशनपुर चकाई आई थी। बिशनपुर में दो-तीन घंटा रुकने के बाद शाम को 6 बजे देवघर जाने के लिए घर से निकली। देर रात तक वह जब देवघर नहीं पहुंची तो अपने स्वजनों से संपर्क साधा गया।

काफी खोजबीन करने के बाद जब वह नहीं मिली तो 20 मई को गांव से पता चला कि विशनपुर के गुलतेन साह बहला-फुसलाकर उनकी पत्नी को साथ लेकर भाग गया। पत्नी साथ में नकद आठ हजार रुपये, करीब एक लाख का दो भर सोना का जेवर, 15 भर चांदी का जेवर सहित कुल एक लाख 95 हजार की संपत्ति साथ में लेकर चली गई है। गुलशन साह के पिता तुलसी साह को कहने गए कि आपका बेटा मेरी पत्नी को बहला-फुसलाकर नकद जेवर के साथ लेकर भाग गया है। इतना सुनने के बाद सभी लोग हमारे साथ गाली-गलौज करते हुए मारपीट करने लगे। किसी तरह हम जान बचाकर चकाई थाना में आकर सूचना दे रहे हैं। चकाई थानाध्यक्ष राजीव कुमार तिवारी ने मामला दर्ज करते हुए जांच शुरू कर दी है।

Edited By: Dilip Kumar Shukla