भागलपुर [जेएनएन]। सैंडिस कंपाउंड में स्मार्ट सिटी का काम दिखने लगेगा। महीने भर में लोगों को काम दिखाई पडऩे लगेगा। इसको लेकर नगर आयुक्त जे प्रियदर्शिनी ने सैंडिस कंपाउंड का निरीक्षण किया। सप्ताह भर के अंदर डीएम और प्रमंडलीय आयुक्त भी स्मार्ट सिटी का काम देखने सैंडिस कंपाउंड जाएंगी। डीएम ने बैठक में उपस्थित लोगों को विश्वास जताया कि सैंडिस कंपाउंड में प्रारंभिक काम एक-दो दिनों में शुरू कर दिया जाएगा।

इससे पहले डीएम प्रणव कुमार की अध्यक्षता में जयप्रकाश उद्यान और सैंडिस कंपाउंड के विकास को लेकर बैठक हुई। बैठक में निर्णय लिया गया कि जयप्रकाश उद्यान और सैंडिस कंपाउंड में बारिश का पानी बर्बाद न हो, इसके लिए वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम तैयार किया जाए। इसके लिए जल्द काम शुरू करने के लिए कहा गया है।

डीएम प्रणव कुमार ने बताया कि शहर में जल का स्तर नीचे जा रहा है। कहीं कहीं सौ फीट पर भी पानी नहीं मिल रहा है। आगे और भी पानी का संकट गहराने वाला है। ऐसी स्थिति को देखते हुए जयप्रकाश उद्यान और सैंडिस कंपाउंड में बारिश के पानी को एकत्रित किया जाएगा। वहां का पानी नाले में नहीं बहेगा। उद्यान के दक्षिणी-पश्चिमी छोर पर बने तालाब के चारो ओर सड़क और लाइटिंग की व्यवस्था करने का निर्णय लिया गया। साथ पानी की व्यवस्था भी कराने का निर्णय लिया गया।

डीएम की अध्यक्षता में हुई बैठक में सूखे तालाबों के सौंदर्यीकरण, टिल्हा कोठी के सौंदर्यीकरण और लाईटिंग की व्यवस्था, ग्रीन पार्क और चिल्ड्रेन पार्क का सौंदर्यीकरण एवं नए उपकरण लगाने, ग्रीन पार्क और उद्यान में लगे पौधों की नियमित देखभाल, ग्रीन पार्क के अंदर वाटर फॉल की व्यवस्था करने, मैदान की नियमित सफाई एवं पर्याप्त माली की व्यवस्था, सुखे पेड़ को हटाने और उसकी जगी नए पेड़ लगाने एवं उद्यान के सौंदर्यीकरण करने, मोटर साइकिल स्टैंड की व्यवस्था गार्ड सहित करने, विद्युत की समुचित व्यवस्था करने आदि का निर्णय लिया गया। जयप्रकाश उद्यान सह सैंडिस कंपाउंड विकास समिति की मांग को पूरा करने का डीएम ने भरोसा दिलाया।

वाटर रिचार्ज को लेकर शहर में चलेगा अभियान
भागलपुर शहर में हर वर्ष जलस्तर नीचे जा रहा है। स्थिति यह है कि सौ फीट तक जलस्तर नीचे चला गया है। इसको लेकर सरकार की चिंता बढ़ गई है। जिला प्रशासन ने सभी सरकारी और गैर सरकारी कार्यालयों में वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम बनाने का आदेश दिया है। डीएम प्रणव कुमार ने डीआरडीए में संवाददाता सम्मेलन कर बताया कि 245 सरकारी कार्यालयों में अगले महीने यानि अगस्त तक वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम बनकर तैयार हो जाएगा। काम की शुरूआत हो गई है। उन्होंने बताया कि प्रत्येक घर में सोख्ता हो, इसके लिए शहर में जागरूकता अभियान चलाया जाएगा। शहर के बुद्धिजीवियों की बैठक 14 अगस्त को बुलाई जा रही है। बैठक में जागरूकता अभियान को लेकर चर्चा की जाएगी। उन्होंने कहा कि जितना हम पानी का दोहन कर रहे हैं, उतना हम पानी का रिचार्ज करेंगे। हर घर में सोख्ता की व्यवस्था होगी। जो लोग वर्षा के पानी का उपयोग करना चाहते हैं, वे वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम बना सकते हैं।

बता दें कि समाहरणालय में वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम बनाने का काम शुरू हो गया है। अन्य सरकारी कार्यालयों में कम शुरू हो रहा है। भवन निर्माण विभाग ने वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम के लिए सरकारी कार्यालयों को चिंहित कर लिया है। डीएम ने इसे अगस्त तक हर हाल में पूरा करने के लिए कहा है। डीएम ने कहा है कि अगर हम अभी से नहीं चेते तो भविष्य में हमें भारी जल संकट का सामना करना पड़ेगा।

वहीं डीएम ने बताया कि पैन इंडिया के जाने के बाद नगर निगम शहरवासियों को शुद्ध पेयजल पिलाने की व्यवस्था करेगा। इसके लिए शहर को चार जोन में बांटा गया है। पेयजल संकट उत्पन्न न हो हो इसके लिए तेजी से काम करने के लिए कहा गया है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस