संवाद सहयोगी, जमुई। सदर थाना क्षेत्र के बरुअट्टा गांव में शनिवार को जहर खाने से गणेश रविदास की 22 वर्षीय पत्नी कुशुम कुमारी की मौत हो गई। घटना की सूचना के बाद नैहर वालों ने ससुराल वालों पर हत्या का आरोप लगाते हुए पुलिस को घटना की सूचना दी। उसके बाद मृतका के शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल लाया गया।

खैरा थाना क्षेत्र के पूर्णा खैरा गांव निवासी मृतका की नानी शांति देवी ने बताई की डेढ़ वर्ष पहले अपनी नतनी की शादी धूमधाम से बरुअट्टा गांव निवासी सहदेव रविदास के पुत्र गणेश रविदास से की थी। शादी के बाद से ही सास गीता देवी द्वारा हमेशा प्रताड़ित किया जाता था। थोड़ी-थोड़ी बात को लेकर पति सहित अन्य ससुरालियों द्वारा उसके साथ मारपीट भी की जाती थी। शनिवार जब कुशुम अपने ससुराल गई थी तो उसके सास द्वारा घर बंद कर दिया गया था। तकरीबन 4 घंटे तक वो बाहर में ही खड़ी रही थी। स्थानीय ग्रामीणों द्वारा किसी तरह कुशुम को घर के अंदर भेजा गया उसके बाद पति और सास की मिली भगत से उसे खाना में जहर देकर हत्या कर दी गई।

स्वजन ने सास, ससुर, भैसुर और पति पर हत्या का आरोप लगाया है। उसके बाद टाउन थानाध्यक्ष चंदन कुमार द्वारा फौरन कार्रवाई करते हुए आरोपित पति गणेश रविदास को गिरफ्तार कर लिया गया। हालांकि मृतका के पति गणेश रविदास ने बताया कि दुर्गापूजा के नवमी और विजयी दशमी के दिन दोनों पति-पत्नी मेला घूमकर शनिवार की शाम घर गए थे।

इसी दौरान सास और बहू के बीच झगड़ा होने लगा। कुछ देर के बाद झगड़ा को शांत करा दिया गया था। इसी रंजिश में उनकी पत्नी ने जहर खा ली। जिसे आनन-फानन में इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया गया जहां से रेफर करने के बाद पटना ले जाने के दौरान रास्ते में ही उनकी मौत हो गई थी।

'मामले की जानकारी हुई है। पुलिस महिला के पति को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। घटना की तफ्तीश भी जारी है। दोषी पर कार्रवाई की जाएगी।'- डा. राकेश कुमार, एसडीपीओ, जमुई

Edited By: Shivam Bajpai