संवाद सूत्र, नवगछिया (भागलपुर)। विश्व हिंदू परिषद ने नवगछिया में संगठन का 57वां स्थापना दिवस समारोह के रूप में मनाया। इस दौरान बिहार-झारखंड के क्षेत्रीय संगठन मंत्री केशव राजू ने कहा कि सामाजिक समरसता के तहत संपूर्ण हिंदू एक है। यहां कोई ऊंचा-नीचा नहीं है। उन्होंने कहा कि सीमावर्ती इलाकों में रोहिंगिया और बांग्लादेशी घुसपैठ कर रहे हैं प्रशासन को ध्यान देना चाहिए।

उन्होंने कहा कि कुछ हिंदू भाई कुछ चंद लोभ में फंसकर धर्म परिवर्तन कर रहे हैं। दूसरे लोग भी धर्म परिवर्तन के लिए प्रेरित करते हैं। हम सभी को मिलकर इस पर ध्यान देना होगा। उन्होंने कहा कि हमारा संगठन श्री राम जन्म भूमि निर्माण आंदोलन से लेकर राम सेतु, अमरनाथ श्राइन बोर्ड तक बचाने, लव जेहाद, गो हत्या व धर्म परिवर्तन के विरुद्ध आंदोलन अनवरत चलाता है। भारत माता की सुरक्षा हिंदू संस्कृति की रक्षा आदि के लिए अनवरत आंदोलन खड़ा करने वाला संगठन है। कार्यक्रम में जिलाध्यक्ष प्रवीण कुमार भगत ने संबोधित किया और कहा कि विश्व हिंदू परिषद की स्थापना कृष्णाष्टमी के दिन 1964 को मुंबई के संदीपनी आश्रम में चालीस पंथों के मार्गदर्शकों की उपस्थिति में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के द्वितीय सर संघ चालक माधव राव सदाशिव गोलवरकर ने किया था। उन्होंने बताया कि विहिप एक समाजिक, धार्मिक, गैर राजनीतिक और सांस्कृतिक संगठन है जो सेवा क्षेत्र में विश्व का सबसे बड़ा संगठन है। यह बाढ़, भूकंप व अन्य सभी प्रकार की प्राकृतिक विपदा आदि संकटों में सबसे आगे रहने वाला संगठन है।

इससे पूर्व कार्यक्रम शुभारंभ विहिप के बिहार और झारखंड के क्षेत्रीय संगठन मंत्री केशव राजू, कटिहार जिला के विभाग संगठन मंत्री गोपालचन्द्र साह, नवगछिया जिलाध्यक्ष प्रवीण कुमार भगत, उपाध्यक्ष पंकज कुमार भारती एवं आरएसएस के जिला कार्यवाहक मुकुल कुमार ने दीप प्रज्वलित कर किया। मंच संचालन विहिप के उपाध्यक्ष पंकज कुमार भारती ने किया।

वहीं कार्यक्रम के समापन के पूर्व नवगछिया एनएसएस की चयनित छात्रा आर्या कश्यप को अंग वस्त्र से सम्मानित किया गया। मौके पर प्रह्लाद कुमार, प्रभाष कुमार, कन्हैया कुमार, धर्मेंद्र कुमार साह, पंडित ललित शास्त्री, समेत सैकड़ों की संख्या में विहिप एवं बजरंग दल के पदाधिकारी एवं सदस्य मौजूद थे।

Edited By: Dilip Kumar Shukla