संवाद सूत्र, लक्ष्मीपुर(जमुई)। वायरल फोटो ने टूटे रिश्ते की डोर जोड़ी तो सावन मास में भी दुल्हा-दुल्हन ने सात फेरे ले लिए। पुलिस की पहरेदारी में हुई ये शादी आज इलाके में चर्चा का विषय बनी हुई है। मामला लक्ष्मीपुर थाना से जुड़ा है। दरअसल, थाना क्षेत्र के चिनवरिया निवासी त्रिभुवन दास की पुत्री ममता कुमारी की शादी डोमाचक निवासी रंजीत दास के पुत्र प्रमोद दास से तय हुई थी। इस बीच शादी से पहले ही लड़का और लड़की पक्ष के रिश्ते में दरार आ गई और रिश्ता बनने से पहले ही टूट गया।

इधर, शादी तय होने के बाद लड़का और लड़की की एक-दूसरे से मुलाकातें हुई। इस दौरान की कुछ तस्वीरें भी दोनों के मोबाइल में कैद हुई। लेकिन शादी टूटने के बाद मध्यस्थता की भूमिका में लड़के की रिश्ते में बहन तथा लड़की की चचेरी भाभी ने फोटो इंटरनेट मीडिया पर वायरल कर दी। यह घटना लड़की पक्ष को नागवार गुजरा और बात थाने तक जा पहुंची। लड़की ने लड़का पर फोटो वायरल कराने का आरोप मढ़ते हुए उचित कार्रवाई की मांग की तो थानाध्यक्ष मृत्युंजय पंडित सामाजिक पंडित की भूमिका में आ गए और फौरन रविदास समाज के प्रबुद्ध लोगों से पहल की।

  • शादी टूटने के बाद वायरल हो गई थी मुलाकातों की तस्वीरें
  • लड़की और लड़के दोनों पक्षों की ओर से वायरल हुईं तस्वीरें
  • पुलिस तक पहुंचे मामले में पक्की हुई रिश्ते की डोर
  • पुलिस बनी बाराती, मंदिर में लिए गए साथ फेरे
  • अब सात जन्मों का साथ निभाएंगे लड़का और लड़की

बात आगे बढ़ी और टूटे रिश्ते की डोर बंध गई। बीते रविवार को पत्नेश्वर मंदिर प्रांगण में प्रमोद और ममता एक-दूसरे का हाथ थाम कर जीवन भर के लिए एक दूजे के हो गए। थानाध्यक्ष मृत्युंजय पंडित के इस सामाजिक पहल में जदयू नेता ललन कुमार दास, डोमाचक गांव निवासी वार्ड सदस्य राजकुमार दास, अशोक दास, चिनवरिया के दिलीप दास, मुखिया गणेश दास, मुखिया पति रविंद्र दास, सरयुग दास आदि ने सराहनीय भूमिका निभाई।

Edited By: Shivam Bajpai